DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूफी संगीत का नया साज सिद्धार्थ मोहन

आर्ट ऑफ लीविंग गुरू श्री श्री रविशंकर के शिष्य सिद्धार्थ मोहन की भावना युक्त नई एलबम सूफी सिट्रग्स शुक्रवार 21 अगस्त 2010 को रिलीज हो गई। उनका इस एलबम से मात्र उद्देश्य संगीत से विश्व को एकजुट करना है। उनका मानना है कि संगीत अध्यातम की गहराई की उस राह पर ले जाता है, जिसका अन्त आन्तरिक शान्ति महसूस होती है।
 
सिद्धार्थ मोहन ने अपनी शिक्षा इंजिनियरिंग से की। लेकिन उनका सपना तो संगीत की बरीकी जानना था। इसके के लिए रविशंकर से जा जुडें जहां उन्होंने संगीत में अपनी सुरीली आवाज से कम समय में लोगों का दिल जीत लिया।
 
मोहन 12 साल की आयु से ही वह संगीत से जुड़ गए थे। हर छोटे बडे़ कार्यक्रम में भाग लेते रहे। जिसके कारण वह भारत के आलावा विदेशों में भी संत्संग जरिये प्रसिद्व होने लगे। उनकी पहली एलबम-(शिवांश) 2006 को रिलीज हुई। वहीं उनकी दूसरी एलबम-(नित्या) 22 नवम्‍बर2008 को रिलीज हुई, जिसका उद्घघाटन श्री रविशंकर द्वारा किया गया। हाल ही में रशिया ने उन्हें यूथ एक्सिलैट अवार्ड से सम्मानित किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सूफी संगीत का नया साज सिद्धार्थ मोहन