DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जमीन अधिग्रहण नेताओं की साजिश: किसान

जालंधर जिले में आवासीय योजना के लिए चार गांवों में कृषि भूमि अधिग्रहण करने की इंप्रूवमेंट ट्रस्ट की योजना के बारे में संबंधित गांवों के लोगों ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि इसके पीछे भ्रष्ट और लालची नेता, अधिकारी तथा बिल्डरों की मिली जुली साजिश है।

गांवों के किसानों ने शुक्रवार को कहा कि जब सूबे के मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री कह चुके हैं कि किसानों की मर्जी के बगैर भूमि का अधिग्रहण नहीं होगा, तब किस आधार पर वह भूमि का अधिग्रहण करने की योजना बना रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि किसान जब अपनी भूमि देना ही नहीं चाहते हैं तो इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के चेयरमैन किस आधार पर किसानों को शेयर देने की पेशकश कर रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि जालंधर के चार गांवों के कृषि योग्य जमीन का आवासीय कालोनी बनाने के लिए इंप्रूवमेंट ट्रस्ट अधिग्रहित कर रहा है और किसानों के विरोध के बाद उन्होंने कहा था कि यदि किसान चाहे तो उन्हें इसमें हिस्सेदारी दी जा सकती है। इस संबंध में हाल ही में देहाती युवक कांग्रेस ने भी मुख्यमंत्री से स्पष्टीकरण की मांग की थी कि जालंधर में भूमि अधिग्रहण नहीं करने अथवा किसानों की मर्जी से ऐसा करने की उनकी घोषणा के बावजूद इंप्रूवमेंट ट्रस्ट ने इस संबंध में किस आधार पर अखबारों में विज्ञापन दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जमीन अधिग्रहण नेताओं की साजिश: किसान