DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसएलसी ने सटोरियों के फर्नान्डो से संपर्क की पुष्टि की

एसएलसी ने सटोरियों के फर्नान्डो से संपर्क की पुष्टि की

श्रीलंका क्रिकेट ने कहा है कि तेज़ गेंदबाज़ दिलहारा फर्नान्डो ने पिछले साल टीम प्रबंधन को कथित सटोरिये के उनसे संदिग्ध संपर्क करने की जानकारी दी थी लेकिन बोर्ड ने कहा कि वह कभी आईसीसी की जांच के घेरे में नहीं था।
   
द आइलैंड की रिपोर्ट के मुताबिक आईसीसी की भ्रष्टाचार रोधी और सुरक्षा इकाई के अधिकारी इस साल की शुरूआत या पिछले साल के अंत में जांच के लिए यहां आए थे और राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के एक पूर्व मैनेजर ने जांच में फर्नान्डो के लिए दुभाषिये की भूमिका निभाई थी।
   
समाचार पत्र ने सूत्रों के हवाले से कहा कि आईसीसी की एसीएसयू के अधिकारी जांच के लिए इस साल की शुरूआत या पिछले साल के अंत में कोलंबो में थे और एक दुभाषिये ने फर्नान्डो की मदद की थी। राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के पूर्व मैनेजर ने जांच में दुभाषिये की भूमिका निभाकर मदद की। फर्नान्डो अब लगभग दो साल से आईसीसी की जांच के घेरे में है।
   
श्रीलंका क्रिकेट ने इसे खारिज करते हुए कहा कि फर्नान्डो ने जब आईसीसी के अधिकारियों को स्वैच्छिक रूप से कथित सटोरिये के उनसे संपर्क करने का खुलासा किया तो उससे नियमित पूछताछ हुई थी। ये अधिकारी पिछले साल लाहौर में श्रीलंका खिलाड़ियों पर आतंकी हमने के संबंध में सूचना जुटाने यहां आए थे।

श्रीलंका क्रिकेट ने एक बयान में कहा कि आईसीसी की एसीएसयू एसएलसी की नज़र में ऐसा कोई मुद्दा नहीं लाई और यह अनुचित है कि तथ्य का सत्यापन किए बगैर हमारे खिलाड़ियों पर ऐसे आरोप लगाए जा रहे हैं।
    
उन्होंने कहा कि मई 2009 में आईसीसी की एसीएसयू श्रीलंका टीम बस पर लाहौर आतंकी हमले के संबंध में श्रीलंका के क्रिकेटरों से बात करने आई थी। बयान के अनुसार, उनके श्रीलंका दौरे के दौरान, दिलहारा फर्नान्डो ने स्वेच्छा से टीम प्रबंधन को (सटोरिये के) संदिग्ध संपर्क की जानकारी दी और इसी सूचना तुरंत आईसीसी की एसीएसयू को दी गई जिसने दिलहारा से नियमित पूछताछ की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एसएलसी ने सटोरियों के फर्नान्डो से संपर्क की पुष्टि की