DA Image
6 अप्रैल, 2020|12:05|IST

अगली स्टोरी

आर्थिक वृद्धि 8.5 प्रतिशत से अधिक की उम्मीद: मोंटेक

आर्थिक वृद्धि 8.5 प्रतिशत से अधिक की उम्मीद: मोंटेक

शुक्रवार को योजना आयोग ने जुलाई माह में प्रभावी औद्योगिक वृद्धि दर के मद्देनजर मौजूदा वित्त वर्ष के लिए जीडीपी लक्ष्य को बढ़ाने का समर्थन किया।

मशीन-उपकरण, उद्योग के उछाल की बदौलत जुलाई माह में औद्योगिक वृद्धि 13. 8 प्रतिशत हो गई है। योजना आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह आहलूवालिया ने जुलाई में औद्योगिक वृद्धि दर के आंकड़ों पर टिप्पणी करते हुए कहा कि जुलाई के ये आंकड़े मेरी अपेक्षा से भी अच्छे हैं। अप्रैल जुलाई को मिलाकर देखें तो लगेगा कि हम वृद्धि दर लक्ष्य को पाने के लिए पटरी पर हैं। वस्तुत: जीडीपी वृद्धि दर में आंशिक बढ़ोत्‍तरी का अवसर भी है।

सरकार ने इस वित्त वर्ष के दौरान जीडीपी में 8.5 प्रतिशत वृद्धि दर का लक्ष्य रखा है। पहली तिमाही में जीडीपी वृद्धि दर 8.8 प्रतिशत रही जो एक साल पहले की अवधि में छह प्रतिशत थी।
  
सरकार के आज जारी आंकड़ों में कहा गया है कि जुलाई में औद्योगिक वृद्धि दर 13.8 प्रतिशत रही जो पिछले साल जुलाई माह में 7. 2 प्रतिशत थी।
  
चालू वित्तवर्ष के पहले चार महीनों अप्रैल-जुलाई 2010 के दौरान औद्योगिक वृद्धि 11. 4 प्रतिशत रही, जबकि एक साल पहले के इसी दौरान 4. 7 प्रतिशत थी।
  
यहां आज जारी सरकारी आंकड़ों के अनुसार आलोच्य अवधि में पूंजीगत क्षेत्र कहे जाने वाले मशीन और उपकरण बनाने वाली उद्योगों के उत्पादन में 63 प्रतिशत की आशातीत बढ़ोतरी दर्ज की गई।
  
औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) में शामिल मुख्य औद्योगिक वर्गों में निर्माण क्षेत्र ने जुलाई में 15 प्रतिशत, खनन क्षेत्र 9. 7 प्रतिशत और बिजली क्षेत्र ने 3. 7 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की। जुलाई 2009 में इन क्षेत्रों की वृद्धि दर क्रमश: 7.4 प्रतिशत, 8.4 प्रतिशत और 4.2 प्रतिशत थी। आहलूवालिया ने कहा कि यह अच्छा समाचार है। मैं तो सोच रहा था कि जुलाई में औद्योगिक वृद्धि दर घटेगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ। यह अच्छी बात है।
   
इससे पहले आर्थिक विश्लेषकों ने यह अनुमान लगाया था कि इस बार जुलाई की औद्योगिक वृद्धि 10 प्रतिशत से कम रहेगी, क्योंकि पिछले साल इसी माह औद्योगिक वृद्धि अपेक्षाकृत ऊंची थी।
   
इस बार जून की वृद्धि को देखते हुए जुलाई की औद्योगिक वृद्धि को सराहनीय कहा जाएगा। जून में प्रारंभिक अनुमान के अनुसार वृद्धि 7.1 प्रतिशत थी, जिसे बाद में संशोधित करके 5. 67 प्रतिशत कर दिया गया था। आहलूवालिया ने कहा कि जहां तक आर्थिक वृद्धि से जुड़े सभी संकेतकों का सवाल है तो संकेत यही है कि चीजें ठीक चल रही हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:आर्थिक वृद्धि 8.5 प्रतिशत से अधिक की उम्मीद: मोंटेक