DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्वोत्तर की पृष्ठभूमि पर होगा चंडीगढ़ का हस्तशिल्प मेला

चंडीगढ़ में 26 अक्टूबर से चार नवंबर तक आयोजित होने वाला दूसरा राष्ट्रीय हस्तशिल्प मेला पूर्वोत्तर भारत की पृष्ठभूमि पर आधारित होगा। इस मेले का आयोजन चंडीगढ़ प्रशासन और केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय के उत्तरी क्षेत्र संस्कृति केंद्र (एनजेडसीसी) द्वारा किया जा रहा है।

इस मेले के आयोजन स्थल पर एनजेडसीसी एक नया गांव निर्मित कर रहा है जिसमें पूर्वोत्तर भारत के आठ राज्यों अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, मणिपुर, मिजोरम, नागालैंड, सिक्किम और त्रिपुरा की झांकियां प्रदर्शित होंगी। मेले में बांस और बेंत के बने उत्पाद और नागा लोगों की झोपडियां और वहां की वनस्पतियां और पशुधन दर्शकों के लिए विशेष आकर्षण होंगे।

चंडीगढ़ पर्यटन विकास सचिव राम निवास ने शुक्रवार को कहा कि इस मेले में करीब 10 लाख घरेलू और विदेशी पर्यटकों के आने की संभावना है। राष्ट्रीय और प्रदेशों के 200 से ज्यादा सम्मानित कलाकार और 300 से ज्यादा लोक नृत्यकार मेले में विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे। राम निवास ने कहा, ''संगीत, नृत्य और एक से बढ़कर एक उम्दा वस्तुओं का प्रदर्शन इस मेले को काफी आकर्षक बनाएगा।''

हस्तशिल्प और नृत्य के अलावा इस मेले का एक खास पहलू होगा 'स्ट्रीट फूड फेस्टिवल ऑफ इंडिया'। चांदनी चौक, पंजाब, लखनऊ, चायनीज, कश्मीर, राजस्थान, हरियाणा और मुंबई के प्रसिद्ध व्यंजनों के स्टॉल लगाए जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पूर्वोत्तर की पृष्ठभूमि पर होगा चंडीगढ़ का हस्तशिल्प मेला