DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संगीन धाराओं में मुकदमे थे विनय पर

एसपी सिटी मान सिंह चौहान बताया कि विनय आपराधिक प्रवृत्ति का था। उसके खिलाफ क्वार्सी व सिविल लाइन थानों में आधा दजर्न से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। इसमें तीन मुकदमे जानलेवा हमला करने के हैं। इसके चलते परिवारीजनों ने उसे कन्नौज भेज दिया था। वहाँ उसका बीए व कम्प्यूटर कोर्स कराने के लिए कानपुर के एक इंस्टीट्यूट में दाखिला करा दिया था। वह चार-पाँच दिन पहले ही अलीगढ़ आया था। उसके भाई विपिन की मानें तो घटना से कुछ देर पहले घर एक युवक उसे बुलाने गया था। उसी के साथ विनय घर से निकला था। विनय दो भाई और एक बहन हैं। सबसे बड़ी बहन और विनय सबसे छोटा था।

विनय के खिलाफ क्वार्सी थाने में दर्ज मुकदमे
अपराध संख्या  धारा524/07   307
225/07 25 आर्म्स एक्ट
1047/08 304,506
1048/08 307
1049/08 25आर्म्स एक्ट
219/09  3जी एक्ट
581/09 307,323 
सीओ तृतीय ओमप्रकाश की मानें तो विनय के खिलाफ सिविल लाइन थाने में भी कुछ मुकदमे दर्ज हैं। उसकी हत्या के पीछे क्या वजह रही यह पता नहीं चल पा रहा है।

जेब से पर्स मिला, मोबाइल नहीं
पर्स में एक लड़की का फोटो
अलीगढ़
पुलिस को विनय की जेब से उसका पर्स मिला उसमें एक लड़की का फोटो था। कुछ कागजात व दो सिम निकले। उन पर नम्बर लिखे थे। उन नम्बरों को पुलिस ने सर्विलांस में लगवा दिया है। उसकी जेब से मोबाइल नहीं मिला जबकि वह मोबाइल रखता था। उसके मोबाइल का नम्बर परिवारीजनों से लेकर उसे भी सर्विलांस पर लगवाया है। उसकी काल डिटेल भी निकलवाई जा रही है। इसमें यह देखा जाएगा कि विनय की मोबाइल पर अंतिम बार किससे बात हुई। साथ ही प्रत्यक्षदर्शियों से बताए गए गाड़ियों के नंबरों की डिटेल निकलवाई जा रही है। सूत्रों की मानें तो पुलिस ने हत्यारों की पहचान कर ली है। वह जल्द घटना की खुलासा कर सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:संगीन धाराओं में मुकदमे थे विनय पर