DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हथिनी बैराज के पानी ने टप्पल के लोगों डाला को मुसीबत में

हरियाणा के हथिनी बैराज से छह लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने से टप्पल में यमुना के किरानेवसे गाँव के लोगों को मुसीबत में डाल दिया है। एसडीएम में आधा दजर्न गाँव के लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुँचने के आदेश दे दिए हैं। साथ ही तीन बाढ़ चौकियों को भी सतर्क रहने को कहा है। वहाँ कानूनगो व लेखपालों को तैनात किया गया है। देररात तक टप्पल क्षेत्र में पानी पहुँच जाएगी।
कुछ दिन पहले आई बाढ़ के बाद लोग संभल भी नहीं पाए थे कि गुरुवार को एसडीएम केपी सिंह ने क्षेत्र के महराजगढ़, शेरपुर, नरवारी, आदमपुर, लालपुर, किशनपुर व मिलिक फतेहपुर गांव में मुनादी कर दी कि देररात तक यमुना में पानी बढ़ सकता है। इससे स्थिति गंभीर हो सकती है। इसलिए वे गाँव छोड़ सुरक्षित स्थानों पर चले जाएं। इससे लोगों की चिंताएँ बढ़ गई हैं। ग्रामीणों ने अपना सामान पैककर लिया है। गाँव के निचले भाग में वसे लोग सुरक्षित स्थानों पर जा रहे हैं साथ ही एसडीएम ने बाढ़ चौकियों व मिलिक फतेहपुर व शेरपुर का निरीक्षण किया। बाढ़ चौकियों पर कानूनगो व लेखपालों को तैनात कर दिया है। स्थिति से निपटने के लिए छह नावों की व्यवस्था की है।
उधर, गंगा में शुक्रवार को पानी बढ़ने की संभावना जताई गई है। इससे सांकरा घाट के लोगों की चिंताएँ बढ़ गई हैं। वे पिछले एक माह से बाढ़ से जूझ रहे हैं। गुरुवार को हरिद्वार से दो लाख 62 हजार 283 व बिजनौर से दो लाख 19 हजार सात क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। नरौरा कंट्रोल रूम की मानें तो यह पानी शुक्रवार दोपहर तक सांकरा पहुँचेगा। इससे फिर बाढ़ की स्थिति पैदा हो सकती है। अलिया नगला, किरतौली, गहतौली गंग, हमीदपुर, हारनपुर कला, सांकरा, आर्य नगला, टोंडरपुर व दीनापुर गांव बाढ़ की चपेट में आ सकते हैं। गुरुवार को गंगा में एक लाख 81 हजार 843 क्यूसेक पानी था। 

       पानी खतरे का निशानयमुना में  181.00    182.00
गंगा में   176.00 178.00

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हथिनी बैराज के पानी ने टप्पल को डाला मुसीबत में