DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्कूलों में शैक्षणिक गुणवत्ता का मूल्यांकन करेगी सरकार

स्कूलों में शैक्षणिक गुणवत्ता का मूल्यांकन करेगी सरकार

स्कूलों में पाठ्यक्रमों, शैक्षणिक गुणवत्ता एवं स्तर के मूल्यांकन की जरूरत पर जोर देते हुए सरकार ने गुरुवार को कहा कि वह इस वर्ष के अंत तक सीबीएसई में आंकलन एवं मूल्यांकन केंद्र स्थापित करेगी।

मानव संसाधान विकास मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा कि इस प्रकार का केंद्र दिसंबर माह तक स्थापित हो जाएगा और यह धीरे धीरे यह स्वतंत्र निकाय की तरह कार्य करने लगेगा। इस केंद्र का उद्देश्य स्कूलों में पाठयक्रम, परीक्षा प्रणाली और शैक्षणिक गुणवत्ता एवं स्तर का आकलन करना होगा। अभी इस प्रकार का मूल्यांकन नेशनल एक्रीडेशन एंड एसेसमेंट अथोरिटी तथा नेशनल बोर्ड आफ एसेसमेंट जैसी राष्ट्रीय एजेंसियों के माध्यम से हो रहा है। हालांकि स्कूली स्तर पर शिक्षा की गुणवत्ता का मूल्यांकन करने के लिए कोई राष्ट्रीय एजेंसी नहीं है।

इस विषय पर जून माह में राज्यों के शिक्षा मंत्रियों की बैठक में भी चर्चा हुई थी। सिब्बल ने इस प्रयास के लिए उनका सहयोग मांगा था। उन्होंने कहा था कि प्रत्येक राज्य बोर्ड की अपनी परीक्षा प्रणाली है लेकिन ऐसा कोई तंत्र नहीं है जिससे स्कूल बोर्ड की मूल्यांकन प्रणाली के स्तर की परख की जा सके।

मानव संसाधान विकास मंत्रालय के उच्च शिक्षा विभाग के पहला न्यूजलेटर जारी करते हुए सिब्बल ने यह भी कहा कि उनका इस वर्ष सितंबर माह तक वाणिज्य संकाय के लिए साक्षा पाठयक्रम पेश करने का इरादा है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्कूलों में शैक्षणिक गुणवत्ता का मूल्यांकन करेगी सरकार