DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एजी ऑफिस के दो हजार हड़ताली कर्मचारियों पर कार्रवाई

केन्द्रीय और राज्य कर्मचारियों की सात सितम्बर की हड़ताल का अब तक कोई असर नहीं दिखा है, लेकिन हड़ताल में शामिल एजी लेखा एवं हकदारी के करीब दो हजार कर्मचारियों पर कार्रवाई जरूर हो गई। एजी प्रशासन ने हड़ताली क र्मचारियों का एक-एक दिन का वेतन काटने का आदेश देते हुए सर्विस ब्रेक करने का नोटिस दिया है। कार्रवाई से कर्मचारियों में हड़कम्प है। इस बारे में ब्रदरहुड के नेताओं ने कुछ भी बोलने से इनकार किया है।
एजी ऑफिस के  लेखा एवं हकदारी में राष्ट्रव्यापी हड़ताल पूरी तरह से सफल रही थी। सुबह से एजी ऑफिस का मुख्य द्वार खुला था लेकिन कोई कर्मचारी अपनी सीट पर नहीं गया। इससे अनुभागों में सन्नाटा पसरा रहा। एजी ऑफिस में दो दजर्न से ज्यादा अनुभाग है। इनमें करीब दो हजार कर्मचारी काम करते हैं। स्थिति इतनी खराब थी कि चपरासी-माली और गार्ड तक अन्दर नहीं गए।
‘हिन्दुस्तान’ ने गुरुवार के अंक में हड़ताली कर्मचारियों पर कार्रवाई की आशंका जताई थी। हड़ताल से दो दिन पूर्व एजी प्रशासन वेंकटनाथन ने कर्मचारियों को नोटिस जारी किया था। इसमें हड़ताल में शामिल होने पर कार्रवाई की चेतावनी दी गई थी। यह कार्रवाई उसी नोटिस के तहत प्रशासन ने की है। इससे कर्मचारी परेशान हैं।
उधर, हड़ताल में बढ़चढ़कर शामिल होने वाले ब्रदरहुड के पदाधिकारियों ने इस बारे में कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया। नाम न छापने की शर्त पर एक पदाधिकारी ने कहा कि यह विभागीय मामला है इसलिए इस पर कुछ भी बोलना ठीक नहीं है। प्रशासन के नोटिस का जवाब कर्मचारी अपने अनुसार देगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एजी ऑफिस के दो हजार हड़ताली कर्मचारियों पर कार्रवाई