DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कम्प्यूटर क्यों रहे सुस्त जब एंटी वायरस है मुफ्त

इंटरनेट पर जहां-तहां फैले वायरस अक्सर पीसी और कंप्यूटर नेटवर्क पर हमला बोल देते हैं। वायरस हमले से बचने के कुछ बुनियादी नियम हैं जिन्हें अपनाकर आप अपने सिस्टम को दुरुस्त रख सकते हैं। आज जानिए ऐसे ही कुछ वायरस विरोधी सॉफ्टवेयर्स के बारे में जिनकी जरूरत दिनोंदिन बढ़ती जा रही है और जो इंटरनेट पर मुफ्त में उपलब्ध भी हैं।

कंप्यूटर इस्तेमाल करने वाले ज्यादातर लोग पाइरेटेड सॉफ्टवेयर धड़ल्ले से इस्तेमाल करते हैं। वर्जन नया नहीं तो पुराना सही, काम चल ही जाता है। लेकिन एंटी-वायरस ऐसा सॉफ्टवेयर है जिसका पाइरेटेड वर्जन लंबे समय तक काम नहीं आता। नए वायरसों और स्पाईवेयर का हमला होने पर आपका पुराना, पाइरेटेड एंटी-वायरस हथियार डाल देता है। वजह, उसे नए हमलावरों के बारे में जानकारी नहीं होती। लगभग सभी वैध एंटी-वायरस सॉफ्टवेयर इन्स्टॉल होने के बाद कंपनी के सर्वर से नई डेफीनिशन्स (नए वायरसों से निपटने के कोड) डाउनलोड करते रहते हैं। स्वाभाविक रूप से, पाइरेटेड सॉफ्टवेयर यह नहीं कर सकते क्योंकि सर्वर से कनेक्ट होने के लिए वैध ‘की’ (सॉफ्टवेयर कुंजी) की जरूरत होती है।
दूसरी ओर नए और पहले से अधिक जटिल एवं खतरनाक वायरसों का जन्म लेना अनंत क्रिया है। उनसे बचने के लिए आपके पास दो ही विकल्प हैं- एक, कोई नामचीन एंटी वायरस सॉफ्टवेयर खरीदें और दो, किसी ऐसे सॉफ्टवेयर की तलाश करें जो मुफ्त में मिल जाए। एवीजी, एवास्ट और क्लैमविन ऐसे ही सॉफ्टवेयर हैं जो बहुत शक्तिशाली हैं और घरेलू यूज़र्स के लिए मुफ्त में उपलब्ध हैं। अगर आप नोर्टन, मैकेफी और क्विक हील जैसे लोकप्रिय एंटी वायरस उत्पादों पर धन खर्च करने के मूड में नहीं हैं तो करोड़ों दूसरे कंप्यूटर यूज़र्स की तरह इनको आजमा सकते हैं। ये ट्रायल वर्जन या शेयरवेयर (निश्चित समय के बाद धन न देने पर निष्क्रिय हो जाने वाले) सॉफ्टवेयर नहीं हैं बल्कि पूरी तरह मुफ्त काम करने वाले एंटी वायरस प्रोग्राम हैं। यानी हींग लगे न फिटकरी, रंग चोखा।
क्लैमविन : इस ओपन सोर्स एंटी वायरस प्रोग्राम की लोकप्रियता का अंदाजा इसके 2.2 करोड़ डाउनलोड से लगाया जा सकता है। माइक्रोसॉफ्ट के विभिन्न विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टमों पर बखूबी चलने वाले इस सॉफ्टवेयर का ताजा संस्करण अगस्त 2010 में जारी हुआ है। इसमें स्कैन शिड्यूलिंग, ऑटोमैटिक अपडेशन आदि की सुविधाएं मौजूद हैं। अच्छी बात है कि इसे पेन ड्राइव में रखकर मनचाहे कंप्यूटरों पर बिना इन्स्टॉलेशन के भी इस्तेमाल किया जा सकता है। फिलहाल इसमें रियलटाइम स्कैन (फाइलें खोलते या एक्सेस करते समय स्वत: स्कैनिंग) की सुविधा नहीं है। आने वाले संस्करणों में यह भी उपलब्ध हो जाएगी। क्लैमविन जीएनयू जनरल पब्लिक लाइसेंस के तहत जारी किया गया है इसलिए इसे घरों, दफ्तरों आदि में मनचाहे ढंग से इस्तेमाल किया जा सकता है। डाउनलोड के लिए पता है-  www.clamwin.com
एवीजी एंटी वायरस फ्री : एवीजी दुनिया के सबसे लोकप्रिय और सबसे दमदार एंटी वायरस सॉफ्टवेयरों में से है और इसका नि:शुल्क संस्करण भी उपयोगी फीचर्स से भरा पड़ा है। यह यूज़र द्वारा एक्सेस की जाने वाली फाइलों का उसी समय रियलटाइम स्कैन करने में सक्षम है। इसके लिए ‘ऑन एक्सेस रेजीडेंट प्रोटेक्शन’ नामक विशेष सुविधा मौजूद है। साथ ही साथ ईमेल स्कैनर, लिंक स्कैनर (वेबसाइटों और ईमेल में आने वाले फर्जी लिंक की जांच के लिए), स्कैन शेड्यूलिंग, ऑटोमैटिक अपडेट्स जैसी सुविधाओं से लैस है। विंडोज 2000 और उसके बाद के सभी विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टमों पर अच्छी तरह काम करने वाले इस सॉफ्टवेयर को एक बार इन्स्टॉल करने के बाद आप वायरस और स्पाईवेयर की समस्या से लगभग निश्चिंत हो सकते हैं। इन्स्टॉलेशन आसान है और आप इस क्रिया में किसी भी अवांछित प्रोग्राम के इन्स्टॉल होने की आशंका से चिंता मुक्त रह सकते हैं। अलबत्ता, नि:शुल्क संस्करण सिर्फ घरों में योग के लिए है, दफ्तरों के लिए नहीं। एवीजी एंटी वायरस फ्री को डाउनलोड करने के लिए यहां जाएं- www.avg.com डाउनलोड करते समय ध्यान रखें कि आपको ‘ट्रायल वर्जन’ का नहीं बल्कि, ‘एवीजी एंटी वायरस फ्री 9.0’ का डाउनलोड लिंक दबाना है।
माइक्रोसॉफ्ट सिक्यूरिटी एसेंशियल्स : माइक्रोसॉफ्ट का ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज वायरसों से संक्रमित रहने के लिए कुख्यात है, लेकिन पिछले कुछ वर्षों में विश्व की इस दिग्गज सॉफ्टवेयर कंपनी ने एंटी-वायरस उत्पादों के क्षेत्र में काफी निवेश किया है और उसका ‘सिक्यूरिटी एसेंशियल्स’ सॉफ्टवेयर नि:शुल्क और कारगर है। वायरस, स्पाईवेयर, रूट-किट, ट्रोजन हॉर्स आदि कई तरह की सुरक्षा संबंधी चुनौतियों का मजबूती से सामना करने वाला यह उत्पाद विंडोज एक्सपी और उसके बाद के सभी विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम्स में इन्स्टॉल किया जा सकता है। अन्य लोकप्रिय एंटी-वायरस सॉफ्टवेयरों की तरह यह भी रेजीडेंट प्रोटेक्शन, रियलटाइम स्कैन, ऑटोमैटिक अपडेशन आदि फीचर्स से लैस है। इसकी अनोखी विशेषता है एक लाल-हरा संकेतक जो बताता है कि आपका कंप्यूटर इस समय कितना स्वस्थ है। इसके डाउनलोड का पता है-  http://www.microsoft.com/security_essentials
कमोडो एंटी वायरस: इसका विकास करने वाली कमोडो सिक्योरिटी सॉल्यूशंस का दावा है कि यह ‘गारंटी के साथ’ बाजार में उपलब्ध ‘सर्वश्रेष्ठ’ एंटी-वायरस सॉफ्टवेयर है। इसे धारदार बनाती है कमोडो की निजी ‘डिफेन्स प्लस’ टेक्नोलॉजी जो हर अनजान फाइल या फॉरमैट को ‘असुरक्षित’ मानकर चलती है। यह विंडोज एक्सपी और उसके बाद आए विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टमों के अनुकूल है। इसे इन्स्टॉल करने के बाद आप पूरी तरह निश्चिंत हो सकते हैं क्योंकि यह वायरस, स्पाईवेयर, रूटकिट्स, ट्रोजन होर्स, फिशिंग, एडवेयर आदि विभिन्न चुनौतियों का समाधान करने में सक्षम है। यह ऑटोमैटिक अपडेशन, शिड्यूलिंग आदि सुविधाएं तो इसमें मौजूद हैं ही, यह ईमेल और इन्स्टैंट मैसेंजर के साथ-साथ गेम्स में मौजूद मैलवेयर संबंधी खतरों का भी पता लगा लेता है। इसे जरूर आजमाएं, आपको निराश नहीं होना पड़ेगा। कमोडो एंटी वायरस का नि:शुल्क संस्करण यहां मिलेगा - http://antivirus.comodo.com
इन सभी एंटी-वायरसों में से क्लैम विन के अलावा बाकी सभी नि:शुल्क संस्करण सिर्फ होम यूजर्स के लिए हैं। अपने दफ्तर या कंपनी में फ्री संस्करण इन्स्टाल करने या पाइरेसी से बचें। करोड़ों लोगों को इतने महत्वपूर्ण सॉफ्टवेयर नि:शुल्क बांट कर सुरक्षित रखने वाली कंपनियों के प्रति जवाबदेही दिखाने की बारी अब आपकी है।

आया जमाना क्लाउड एंटी वायरस का
क्लाउड एंटी-वायरस नई श्रेणी के सॉफ्टवेयर उत्पाद हैं जो अपनी ज्यादातर गतिविधियां सॉफ्टवेयर कंपनी के सर्वर से संचालित करते हैं, आपके कंप्यूटर से नहीं। सामान्य एंटी वायरस सॉफ्टवेयरों आपके कंप्यूटर के सीपीयू और मेमरी का इस्तेमाल करते हैं, इसलिए कंप्यूटर की गति कम हो जाती है। दूसरी तरफ क्लाउड आधारित सॉफ्टवेयर सर्वर के संसाधनों का प्रयोग करते हैं, इसलिए कंप्यूटर के धीमा पड़ने की कोई आशंका नहीं होती। अमूमन यूज़र को पता चले बिना ही एंटी वायरस स्कैन संपन्न हो जाता है। नि:शुल्क उपलब्ध पांडा क्लाउड एंटी वायरस इस श्रेणी का मुख उत्पाद है। यह http://www.cloudantivirus.com/en/ पर नि:शुल्क उपलब्ध है। ऐसा ही एक अन्य नि:शुल्क उत्पाद है - इम्यूनेट प्रोटेक्ट फ्री, जिसे यहां से डाउनलोड किया जा सकता है- http://www.immunet.com

अवास्ट एक ताकतवर एंटी-वायरस
इसका नि:शुल्क संस्करण वायरसों के छक्के छुड़ाने में सक्षम है। कंप्यूटर में मौजूद फाइलों, ईमेल और यहां तक कि इन्स्टेंट मैसेंजर के संदेशों तक को स्कैन करने वाला यह सॉफ्टवेयर वायरस डाउनलोड करने वाली वेबसाइटों से भी बचाता है। उन्हें खोलने पर यह पहले ही वायरस एवं स्पाईवेयर संबंधी चेतावनी दे देता है। अवास्ट दुनिया के सर्वाधिक लोकप्रिय एंटी-वायरस सॉफ्टवेयरों में से है जो सन् 1988 में पहली बार विकसित किया गया था। इसका ‘हियरिस्टिक’ फीचर कमाल का है जो ऐसे वायरसों को भी रोकने में सक्षम है जो अभी-अभी बने हैं और जिनके बारे में ज्यादा जानकारी मौजूद नहीं है। यह भी इंटरनेट के जरिए खुद-ब-खुद अपडेट होता रहता है। फ्री वर्जन इन्स्टॉल के एक महीने बाद अगर आपसे रजिस्ट्रेशन का आग्रह किया जाए तो घबराएं नहीं। रजिस्ट्रेशन भी फ्री है। अवास्ट का लिंक है-   www.avast.com/free-antivirus-download

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कम्प्यूटर क्यों रहे सुस्त जब एंटी वायरस है मुफ्त