DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बोपन्ना-कुरैशी से सीख सकते हैं भारत-पाक : गिल

बोपन्ना-कुरैशी से सीख सकते हैं भारत-पाक : गिल

केन्द्रीय खेल मंत्री एम एस गिल ने भारत के रोहन बोपन्ना और उनके पाकिस्तान जोड़ीदार ऐसाम उल हक़ कुरैशी को वर्ष के अंतिम ग्रैंड स्लेम यू एस ओपन टेनिस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचने पर बधाई देते हुए कहा कि दोनों पड़ोसी देशों को इस जोड़ी की सफलता से सीख लेने की ज़रूरत है।
 
गिल ने अपने बधाई संदेश में कहा कि मैं बोपन्ना और कुरैशी को यू एस ओपन के फाइनल में पहुंचने पर बधाई देता हूं। मैं इस जोड़ी के प्रदर्शन पर बराबर नज़र रखता हूं। भारत-पाक एक्सप्रेस के नाम से प्रसिद्ध इस जोड़ी में गज़ब का तालमेल है और यह जुगलबंदी विश्व की शीर्ष जोड़ियों में शुमार है।
 
उन्होंने कहा कि यह जोड़ी अब यू एस ओपन के फाइनल में है और मैं उनकी जीत की कामना कर रहा हूं। मुझे पूरा विश्वास है कि यह जोड़ी अंतत: भारतीय उपमहाद्वीप के सपने को साकार करने में सफल रहेगी। खेल मंत्री ने बोपन्ना और कुरैशी की सफलता को भारत और पाकिस्तान के अन्य खेलों के लिए नज़ीर बताते हुए कहा कि मेरा सभी से एक ही सवाल है कि अगर बोपन्ना और कुरैशी साथ-साथ खेल सकते हैं तो भारत और पाकिस्तान क्यों नहीं।
 
बोपन्ना और कुरैशी ने पहली बार किसी ग्रैंड स्लेम टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई है। सोलहवीं वरीयता प्राप्त इस जोड़ी को खिताब जीतने के लिए शीर्ष वरीय अमरीका के ब्रायन बंधुओं बॉब और माइक की चुनौती से पार पाना होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बोपन्ना-कुरैशी से सीख सकते हैं भारत-पाक : गिल