DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यमुना का पानी खतरे के निशान से ऊपर

यमुना का पानी खतरे के निशान से ऊपर

हरियाणा से पिछले दो दिन में आठ लाख क्यूसेक से अधिक पानी छोड़े जाने के बाद यमुना नदी का पानी खतरे के निशान 204.83 मीटर से ऊपर बह रहा है और अधिकारियों ने आशंका जताई है कि कल तक जलस्तर 207 मीटर से अधिक हो सकता है जिससे निचले इलाकों में बाढ़ आ सकती है।

दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कहा कि किसी भी गंभीर स्थिति से निपटने के लिए सभी उपाय किए जा रहे हैं। बाढ़ नियंत्रण विभाग के अधिकारियों ने कहा कि हरियाणा का पानी कल शाम तक दिल्ली पहुंचेगा और जलस्तर 207 मीटर से अधिक हो सकता है।

केंद्रीय जल आयोग से दिल्ली सरकार को मिली सूचना में कहा गया है कि यमुना का स्तर दस सितंबर की शाम 206.90 मीटर हो जाएगा। आज रात साढ़े आठ बजे जलस्तर 205.09 मीटर पर पहुंच गया।

मुख्यमंत्री ने बताया दिल्ली सरकार स्थिति से निपटने के लिए सभी ऐहतियाती उपाय कर रही है। निचले इलाकों की बस्तियों में रहने वाले 90 फीसदी से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चुका है। हम हर स्थिति के लिए तैयार हैं। हरियाणा के हथिनीकुंड बैराज से आज 2.13 लाख क्यूसेक पानी और कल 6.60 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा जा चुका है। इसके बाद आज सुबह यमुना का जल स्तर 204.52 मीटर से बढ़ कर दोपहर तक 204.73 मीटर हो गया।

हालांकि हरियाणा ने पिछले दो दिन में आठ लाख क्यूसेक से अधिक पानी छोड़ा है लेकिन दीक्षित ने कहा कि केवल 3.5 लाख क्यूसेक पानी दिल्ली आने की उम्मीद है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यमुना का पानी खतरे के निशान से ऊपर