DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन महीने तक पुलिस ने गुमशुदगी तक दर्ज नहीं की

साहिबाबाद के गगन विहार से घर से दूध लेने गए भाई-बहन अचानक लापता हो गए। काफी खोजबीन के बावजूद दोनों का कहीं पता नहीं चला। अधिकारियों के सख्त आदेशों को दरकिनार करते हुए स्थानीय पुलिस ने बच्चों की गुमशुदगी तक दर्ज नहीं की और उन्हें तीन महीने तक चौकी-थाने के चक्कर कटवाती रही। बुधवार को पुलिस ने बच्चाों की गुमशुदगी दर्ज की है।


मूल रूप से अलीगढ़ के गांव अजरोही निवासी सुरेश सिंह पत्नी व बच्चाों के साथ साहिबाबाद स्थित गगन विहार गली नंबर-16 में रहता है। सुरेश रोड रोलर चलाकर परिवार का पालन-पोषण करता है। सुरेश के मुताबिक उसकी पुत्री ज्योति (11) व सनी (10) 31 मई को घर के पास ही दुकान से दूध लेने गए थे। कुछ देर बाद दोनों के वापस नहीं लौटने पर परिजनों को चिंता हुई और उनकी खोजबीन की गई लेकिन कहीं पता नहीं चला। ज्योति दिल्ली के सुंदरनगरी स्थित सरकारी स्कूल में चौथी व सनी नजदीक के ही प्राइवेट स्कूल में तीसरी कक्षा में पढ़ता था।


सुरेश के मुताबिक वह बच्चों की गुमशुदगी लिखवाने स्थानीय तुलसी निकेतन पुलिस चौकी गया जहां से पुलिसवालों ने उसे साहिबाबाद थाने जाने को कहा। थाने वाले भी कई दिन तक उसे टहलाते रहे। थकहार कर वह स्वयं ही बच्चाों की तलाश में दिल्ली के दरियागंज गुमशुदा तलाश केंद्र, अलीगढ़ व मेरठ गया। बुधवार को फिर से साहिबाबाद थाने में दोनों की गुमशुदगी की तहरीर दी गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तीन महीने तक पुलिस ने गुमशुदगी तक दर्ज नहीं की