DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चैट रूम

इंटरनेट ने तमाम दूसरी सुविधाओं के साथ ही पूरी दुनिया के लोगों को एक दूसरे से बात करने का मौका भी दिया है। इसका सबसे सरल रूप है नेट पर चैटिंग का। चैटिंग करने के लिए इसमें चैट रूम होते हैं। जीमेल, याहू समेत तमाम जगहों पर आप अपना अकाउंट खोलकर दोस्तों और अपने जानने वालों से बातें कर सकते हैं। ऑरकुट और फेसबुक जैसी सोशल नेटवर्किग साइटों ने चैंटिंग को और ज्यादा आसान बना दिया है। ऐसे में आप उन्हें भी अपना दोस्त बना सकते हैं, जिन्हें आप ठीक से जानते भी नहीं। वैसे अगर किसी का ईमेल एड्रेस आपके पास है, तो आप उससे भी चैट कर सकते हैं। चैटिंग के लिए आमतौर पर जीमेल और याहू आदि पर मेन अकाउंट के अंदर ही साइड में एक ऑपशन दिया होता है। इस पर क्लिक करते ही आपको पता लग जाता है कि आपके सर्किल के कितने लोग उस समय ऑनलाइन हैं। जिन्हें भी आप ऑनलाइन पाते हैं, उनसे बात शुरू कर सकते हैं। चैट रूम में आप एक समय में कई लोगों से चैट कर सकते हैं।
जिस नेटवर्क या साइट के जरिए आप किसी से चैटिंग करते हैं, उसके पास ये अधिकार रहता है कि वह आपकी चैटिंग पर नजर रखे और किसी भी विवादित चीज को चैक करने पर आपको रोक सके। आमतौर पर हमें इसका पता नहीं रहता क्योंकि इस अधिकार का इस्तेमाल बहुत ही विशेष स्थिति में किया जाता है। वैसे इसको लेकर भी बहस चल रही है कि क्या उन्हें यह अधिकार मिलना चाहिए। लोगों की दलील है कि जब इंटरनेट का इस्तेमाल करने के लिए हम पैसे का भुगतान करते हैं तो हमें किसी भी तरह की चैंटिग करने के लिए वैसी ही आजादी मिलनी चाहिए जैसी कि मोबाइल पर मिलती है।
अब यह भी कहा जाने लगा है कि चैटिंग जयादा करने के चलते अब लोग समाज से कटते जा रहे हैं। खासकर युवा और बच्चों चैट रूम में इतना समय देने लगे हैं कि वास्तव में लोगों से घुलने मिलने के लिए उनके पास समय कम पड़ने लगा है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चैट रूम