DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

15 सितम्बर तक खेलों के रंग में रंग जाएगी दिल्ली

15 सितम्बर तक खेलों के रंग में रंग जाएगी दिल्ली

राजधानी में होने वाले 19वें राष्ट्रमंडल खेलों में आम लोगों की दिलचस्पी जगाने के लिए पूरे शहर को इन खेलों से जुडों प्रतीकों के जरिए सजाने का काम शुरू कर दिया गया है और 15 सितम्बर तक इसे पूरा कर लिया जाएगा।

खेल आयोजन समिति की अतिरिक्त महानिदेशक 'ईमेज एंड लुक' संगीता विलंग्कर ने संवाददाताओं को बताया कि इन प्रतीकों में राजधानी और देश की सांस्कृतिक, ऐतिहासिक विरासत को संजोने का पूरा प्रयास किया गया है। खेलों में आने वाले अतिथियों के सामने इनके जरिए भारत की बहुरंगी छवि पेश की जाएगी और देशवासियों को आसानी से खेलों के साथ जोड़ा जा सकेगा।

इन प्रतीकों को खेलगांव और विभिन्न खेल केंद्रों के अलावा शहर की प्रमुख सडकों, बस पड़ावों, दुकानों और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर लगाया जाएगा। इन प्रतीकों में खेलों का शुभंकर शेरा, खेलों का लोगो, रंगोली और जाली आदि शामिल हैं। इन्हें डिजिटल फ्लो, वेव्स और अन्य आकर्षक स्वरूपों में पेश किया जाएगा।

विलंग्कर ने बताया कि खेलों से जुड़े प्रतीकों को देश की धरोहर के अनुसार ही डिजाइन किया गया है और इनमें दिल्ली के महत्वपूर्ण स्मारकों और इमारतों की छवि के समावेश की पूरी कोशिश की गई है। उन्होंने बताया कि खेलों का लोगो ऐतिहासिक अशोक चक्र से प्रेरित है और इसमें उत्तर प्रदेश की विश्व प्रसिद्ध सांझी कला से प्रेरित मानव चिह्नों का प्रयोग किया है।

लोगों को राष्ट्रमंडल खेलों के आधिकारिक छह मूल रंगों के आधार पर विकसित 29 शेड्स से तैयार किया गया है। खेल केन्द्रों पर मधुबनी, गोंड, वर्ली और सांझी लोक कलाओं की विशेष झलक दर्शाने की कोशिश की गई है। खेलों के पदकों, वर्दी, टिकट आदि पर भी इन डिजायनों को पेश किया जाएगा।

बसों, एम्बुलेंस और सार्वजनिक वाहनों आदि पर भी खेल से जुड़े प्रतीकों का प्रयोग कर इनका प्रचार प्रसार किया जाएगा। इसके लिए दिल्ली सरकार, एमसीडी और एनडीएमसी के साथ मिलकर योजना बनाई गई है। इस तरह की सजावट पर कुल 20 करोड़ रुपए खर्च होंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:15 सितम्बर तक खेलों के रंग में रंग जाएगी दिल्ली