DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

व्रत-त्योहार (08 सितंबर, 2010)

स्नान-दान-श्रद्धादि की अमावस्या। पिठौरी अमावस्या। कुशोत्पाटिनी अमावस्या। ‘ऊं हूं फट्’ मंत्र से कुशोत्पाटन। पोला/वृषभोत्सव/मौन व्रतारम्भ (जैन)। सप्त पितृ अमावस्या। जैनों का उत्सव। सूर्य दक्षिणायन। सूर्य उत्तर गोल। वर्षा ऋतु। मध्यान्ह 12 बजे से मध्यान्ह 1 बजकर 30 मिनट तक राहु कालम्।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:व्रत-त्योहार (08 सितंबर, 2010)