DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार, झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश में आयकर वसूली में उछाल

व्यक्तिगत आयकर वसूली के मामले में अब तक हाशिये पर रहने वाले बिहार, झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश से भी अब इस मद में बड़ चढ़कर योगदान मिलने लगा है।

आयकर विभाग के आंकडों के अनुसार इस साल अगस्त तक के पांच महीनों में बिहार और झारखंड का प्रतिनिधित्व करने वाले पटना क्षेत्र से व्यक्तिगत आयकर वसूली में 90.16 प्रतिशत वृद्धि हुई। इसी प्रकार समूचे पूर्वी उत्तर प्रदेश का हिसाब किताब रखने वाले लखनऊ क्षेत्र में 69. 56 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गई। समूचे पूर्वोत्तर क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले असम आयकर क्षेत्र की व्यक्तिगत आयकर वसूली में 47. 78 प्रतिशत और उत्तर-पश्चिम भारत के चंडीगढ क्षेत्र में 41. 73 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गई। अप्रैल से अगस्त के पांच महीनों में देशभर में व्यक्तिगत आयकर वसूली 9. 68 प्रतिशत बढ़कर 42,217 करोड़ रुपए रही है। पिछले साल इसी अवधि में यह 38,491 करोड़ रुपए रही थी।  कंपनी कर वसूली इस दौरान 17.05 प्रतिशत बढकर 57,750 करोड़ रुपए तक पहुंची है। कुल मिलाकर वर्ष के पांच महीनों में प्रत्यक्ष कर वसूली में करीब 14 प्रतिशत वृद्धि रही और यह 1,00,112 करोड़ रुपए तक पहुंच गई।
   
कंपनी कर मामले में मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व करने वाले भोपाल क्षेत्र में सर्वाधिक 185. 25 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गई। इसके बाद दिल्ली क्षेत्र में 62. 62 प्रतिशत जबकि महाराष्ट्र के नागपुर और पुणे क्षेत्र में क्रमश 60. 71 और 51. 85 प्रतिशत तक वृद्धि रही।
   
सरकार ने चालू वित्त वर्ष में प्रत्यक्ष करों से 4,22,000 करोड रुपए वसूली का बजट अनुमान रखा है। बहरहाल, पांच महीनों की आलोच्य अवधि में इसका एक चौथाई से कुछ कम 1,00,112 करोड रुपए की वसूली हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश में आयकर वसूली में उछाल