DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीबीएसई मैरिट स्कॉलरशिप स्कीम, इकलौती लड़की की पढ़ाई में मिलेगा सहयोग

सीबीएसई मैरिट स्कॉलरशिप स्कीम, इकलौती लड़की की पढ़ाई में मिलेगा सहयोग

आवेदन की अंतिम तिथि -31 दिसम्बर, 2010

लड़कियों की शिक्षा को लेकर लगातार केन्द्र व राज्य सरकारों की ओर से आकर्षक योजनाएं चलाई जाती हैं। कारण साफ है कि शिक्षा को लेकर छात्रों के मुकाबले आज भी छात्राओं के प्रति भेदभाव पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। ऐसे में सरकार की ओर से एक आकर्षक योजना है उन परिवारों के लिए, जहां परिवार में एक ही छात्र हो और वह भी मेधावी। ऐसी छात्राओं को सीबीएसई की ओर से दसवीं के बाद बारहवीं तक की पढ़ाई के लिए खास स्कॉलरशिप का इंतजाम किया गया है।

योग्यता

पहली अनिवार्य योग्यता छात्र का भारतीय होना है। चूंकि यह स्कॉलरशिप दसवीं की परीक्षा में जिन छात्राओं ने 6.2 सीजीपीए ग्रेड (प्वॉइंट) या उससे अधिक प्वॉइंट पाए हों, उन्हें दी जाती है। इसके अलावा आवेदक का सीबीएसई से मान्यताप्राप्त स्कूल में 11वीं में अध्ययनरत होना जरूरी है।

स्कॉलरशिप की संख्या व मिलने वाली सहायता

इस स्कॉलरशिप के तहत फायदा पाने वाली छात्राओं की कोई निर्धारित संख्या नहीं, मतलब जो भी छात्राएं अनिवार्यताओं को पूरी करती हैं, सभी को इसका लाभ दिया जाता है। मिलने वाली सहायता राशि 500 रुपये प्रतिमाह निर्धारित हैं। यह राशि आवेदकों को उनके द्वारा उपलब्ध कराये गए बैंक खाते में मुहैया कराई जाती है।

स्कॉलरशिप की अवधि

स्कॉलरशिप दो साल यानी ग्यारहवीं व बारहवीं के लिए प्रदान की जाती है, ताकि वह अपनी पढ़ाई जारी रखे।

आवश्यक कार्यवाही

आवेदकों का आवेदन पत्र पर हस्ताक्षर करना अनिवार्य है। आवेदन प्रक्रिया को तभी पूरा माना जाता है, जब आवेदक अपने संस्थान प्रमुख से मंजूरी लेकर आता है। इसके लिए संस्थान प्रमुख की मोहर व हस्ताक्षर अनिवार्य है। आवेदन करते समय एक शपथपत्र भी देना होता है, जिसमें अभिभावक स्पष्ट करते हैं कि छात्र उनकी इकलौती लड़की है।

अधिक जानकारी के लिए सम्पर्क करें
सेक्शन ऑफिसर (स्कॉलरशिप), सीबीएसई, शिक्षा केन्द्र, 2, कम्युनिटी सेंटर, प्रीत विहार, नई दिल्ली- 110092
वेबसाइट- www.cbsc.nic.in

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इकलौती लड़की की पढ़ाई में मिलेगा सहयोग