DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हड़ताल जमीन पर और असर आसमान पर, 177 उड़ानें रद्द

हड़ताल जमीन पर और असर आसमान पर, 177 उड़ानें रद्द

प्रमुख विमानसेवा प्रदाता कंपनियों ने पश्चिम बंगाल और केरल के कई शहरों की ओर जाने वाली तथा वहां से आने वाली करीब 177 उड़ानों को केंद्रीय मजदूर संघों द्वारा आहूत हड़ताल के मद्देनजर मंगलवार को रद्द कर दिया। एयर इंडिया ने कहा कि हड़ताल के कारण सरकारी कंपनी का परिचालन प्रभावित नहीं हुआ है।

निजी विमान सेवा प्रदाता कंपनियों जैसे किंगफिशर, जेट एयरवेज, जेटलाइट, इंडिगो और स्पाइसजेट ने वाम दलों की सरकार वाले दोनों राज्यों की ओर जाने वाली तथा वहां से आने वाली करीब 177 उड़ानों को रद्द कर दिया है। कोलकाता से जुडी विमान सेवाओं का परिचालन भी प्रभावित हुआ है।

एक दिन की हड़ताल से सार्वजनिक यातायात के प्रभावित होने से कोलकाता हवाई अड्डे पर यात्री फंसे हुए हैं। बहरहाल एयर इंडिया सूत्रों ने कहा कि कंपनी की उड़ानों का परिचालन सामान्य है। सुबह छह बजे हड़ताल शुरू होने के बाद एयर इंडिया के विमान ने कोलकाता से उड़ान भरी।

सूत्रों ने कहा कि इन उड़ानों में सिंगापुर की अंतरराष्ट्रीय तथा मुंबई, पोर्ट ब्लेयर, नई दिल्ली, सिल्चर और एजल की घरेलू उड़ानें शामिल हैं। उन्होंने कहा कि एयर इंडिया ने काठमांडू के लिए अपनी उड़ान को रद्द कर दिया है।

चेन्नई में हवाई अड्डा सूत्रों ने कहा कि चेन्नई-कोलकाता मार्ग पर छह उड़ानें प्रभावित हुई हैं। दिल्ली हवाई अड्डे पर अधिकारियों ने कहा कि इसके सेवाओं के परिचालन पर हड़ताल का कोई प्रभाव नहीं पड़ा है।

एयर इंडिया के विमानों ने तय समय से कोलकाता के लिए उड़ान भरी लेकिन किंगफिशर तथा जेट एयरवेज की पश्चिम बंगाल की उड़ाने रद्द हैं। अधिकारियों ने कहा कि किंगफिशर ने अपनी करीब 29 उड़ानों को रद्द कर दिया और जेट तथा जेटलाइट से 70 उड़ानों का परिचालन नहीं हुआ।

नागर विमानन महानिदेशालय अधिकारियों ने कहा कि स्पाइसजेट ने देश भर में अपनी 27 उड़ानों को रद्द कर दिया है जबकि इंडिगो की 51 उड़ानों का परिचालन नहीं हुआ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हड़ताल जमीन पर और असर आसमान पर, 177 उड़ानें रद्द