DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केन्द्रीय सहायता के उपयोग में नीतीश सरकार विफल: जोशी

केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सीपी जोशी ने सोमवार को आरोप लगाया कि केन्द्र सरकार बिहार को हर संभव वित्तीय सहायता उपलब्ध करा रही है, लेकिन राज्य की नीतीश सरकार इसका उपयोग करने में पूरी तरह विफल रही है।

जोशी ने कहा कि केन्द्र सरकार ने बिहार को प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार योजना (मनरेगा) तथा इंदिरा आवास योजना के तहत काफी वित्तीय सहायता उपलब्ध कराई है, लेकिन बिहार की नीतीश सरकार इसका उपयोग करने में पूरी तरह विफल रही है जिसके कारण लोगों को इसका समुचित लाभ नहीं मिल पा रहा है।

उन्होंने कहा कि एक आकलन के अनुसार मनरेगा के तहत राष्ट्रीय स्तर पर औसतन 54 मानव दिवस का सृजन किया गया है. लेकिन बिहार में यह मात्र 28 दिन ही है। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि मनरेगा के तहत किसी राज्य को उपलब्ध कराई जाने वाली राशि की उपरी सीमा निर्धारित नहीं है और इसका आकलन संबंधित राज्य के आवश्यकता के अनुसार किया जाता है।

उन्होंने कहा कि बिहार में गरीबी रेखा से नीचे जीवन बसर करने वाले परिवारों की संख्या सबसे अधिक है और इस लिहाज से यहां की सरकार को मनरेगा के तहत भरपूर लाभ उठाना चाहिए था लेकिन अफसोस की बात है कि नीतीश सरकार केन्द्र की राशि का समुचित उपयोग नहीं कर पा रही है। जोशी ने कुमार के उस आरोप को बिलकुल खारिज कर दिया जिसमें उन्होंने कहा था कि केन्द्र सरकार बिहार के साथ सौतेलापूर्ण व्यवहार कर रही है।

उन्होंने कहा कि केन्द्रीय करों में राज्यों का बंटवारा गाडगिल फार्मूले के तहत किया जाता है और इसमें किसी तरह के पक्षपात और भेदभाव किए जाने का सवाल ही नहीं उठता है। उन्होंने कहा कि पिछले दो दिनों के उनके बिहार दौरे के क्रम में उन्हें यह अहसास हुआ कि राज्य में लोगों का झुकाव कांग्रेस की ओर बढ़ा है और ऐसी उम्मीद की जा रही है उनकी पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव में काफी अच्छा प्रदर्शन करेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:केन्द्रीय सहायता के उपयोग में नीतीश सरकार विफल: जोशी