DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रहें कूल-कूल

अकसर हम सबको गुस्सा आता है, लेकिन यह गुस्सा काम खराब भी कर देता है। हम में कुछ लोग हैं जो अपने गुस्से को वश में करना जानते हैं और वे शांत चित्त बने रहते हैं। परंतु जो लोग गुस्से को काबू में नहीं रख पाते, आज उनके लिए प्रस्तुत हैं कूल कूल रहने के कुछ नुस्खे:

दरअसल, गुस्सा हमारे भीतर छिपी एक नेगेटिव फीलिंग है। किसी अन्य भावना की तरह गुस्सा शारीरिक और जैविक परिवर्तन से जुड़ा होता है। जब हम गुस्से में होते हैं, हमारे दिल की धड़कनें और ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। यही हमें नुकसान पहुंचाते हैं। हमारी इच्छानुरूप कोई काम न हो तो हमें गुस्सा आ जाता है।

कई बार गुस्से की इसकी शुरुआत बचपन से हो जाती है, कई बार बच्चों उपेक्षा या आस-पास की स्थितियों से प्रभावित होकर पनपी बचपन की कुंठा चिड़चिड़ाहट और गुस्से में तबदील हो जाती है। ऐसे में सबसे पहले तो यह कोशिश करें कि घर-परिवार और दोस्तों के बीच ऐसी कोई बात की ही न जाए जो गुस्सा दिलाने वाली हो। फिर भी किसी बात पर गुस्सा आए तो अपना ध्यान किसी अन्य विषय पर लगाने की कोशिश करनी चाहिए।

- यदि आपके सामने मौजूद व्यक्ति गुस्से में है तो उसे खुलकर बोल लेने दें। आपकी त्वरित प्रतिक्रिया उनके गुस्से को और भी बढ़ा सकती है। इसके लिए थोड़ी मुश्किल हो तब भी गुस्से में बोले गए शब्दों पर ध्यान देने के बजाय उसके पीछे के कारणों को जानने की कोशिश करें। गुस्सा शांत होने पर उससे बात करने की कोशिश करें। पहले उसकी बातों को ध्यान से सुनें और उसमें छिपी भावना को समझने की कोशिश कूल रह कर करें। 

ध्यान दें:
- जिस बात पर गुस्सा आ रहा है, उसे सोचने की बजाय किसी और विषय के बारे में सोचना शुरू कर दें।
- उलटी गिनती शुरू कर दें, या अपना पसंदीदा संगीत सुनें।
- शांत रहने की कोशिश में ठंडा पानी आपको दिलासा देता है।
- छोटे बच्चों जैसा व्यवहार करते हुए खुद को धैर्यवान दर्शाएं।
- गुस्से में कोई चीज पटकें नहीं, न ही बाहर जाकर गाड़ी चलाएं। इन दोनों बातों से क्षति स्वाभाविक है।
- मन न भी हो तब भी टीवी या वीडियो गेम में अपना ध्यान लगाने का प्रयास करें।
- दूसरों को होने वाली परेशानी या गुस्से की वजह को अपनी ओर से दूर करने की हर संभव कोशिश करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रहें कूल-कूल