DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किसी भी समय हो सकती है विधानसभा चुनाव की घोषणा

बिहार में विधानसभा चुनाव के कार्यक्रमों की घोषणा किसी समय होने की संभावना है। चुनाव आयोग के सूत्रों ने कहा चुनाव कार्यक्रमों को आज या कल घोषित किए जाने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी विधानसभा चुनाव की तिथियों की एक-दो दिनों के भीतर घोषणा हो जाने की संभावना जतायी है। 243 सदस्यीय बिहार विधानसभा का कार्यकाल 27 नवम्बर को समाप्त हो रहा है। यह एक मात्र राज्य है जहां इस साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। एस वाई कुरैशी के मुख्य चुनाव आयुक्त का पद संभालने के बाद यह पहला विधानसभा चुनाव होगा।

चुनाव आयोग राज्य का पहले ही दौरा कर चुका है और वहां चुनाव की तैयारियों खासकर फोटो पहचान पत्र और मतदाता सूची के संशोधन कार्यों का जायजा ले चुका है। चुनाव की तैयारियों को अंतिम रूप देते हुए चुनाव आयोग ने पिछले दिनों केन्द्रीय गृह सचिव जी के पिल्लई के साथ सुरक्षा इंतजामों पर चर्चा की थी। पिछली बार यानी वर्ष 2005 में बिहार विधानसभा के चुनाव चार चरणों में कराये गये थे, जबकि 2000 के विधानसभा चुनाव तीन चरणों में हुए थे।

2005 में राज्य में दो बार विधानसभा चुनाव हुए थे। पहली बार फरवरी में मतदान हुआ था और किसी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिलने के बाद राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू कर दिया गया था। राज्य में फिर अक्टूबर-नवम्बर में विधानसभा चुनाव हुए थे जिसमें नीतीश कुमार के नेतृत्व में जदयू-भाजपा गठबंधन पिछले पंद्रह सालों से सत्ता में काबिज लालू प्रसाद के नेतृत्व वाली राजद को जबर्दस्त शिकस्त देते हुए सत्तारूढ़ हुआ था।

इस चुनाव में राज्य में सत्तारूढ़ जदयू -भाजपा गठबंधन का मुख्य मुकाबला लालू प्रसाद और रामविलास पासवान के नेतृत्व वाली राजद-लोजपा गठबंधन से होगा। लंबे समय से सत्ता से बहार रही कांग्रेस भी इस बार पूरे दमखम से चुनाव मैदान में होगी। पिछले लोकसभा चुनाव की तरह इस बार भी कांग्रेस ने राज्य की सभी सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने की घोषणा की है।

उधर वामपंथी पार्टियां माकपा, भाकपा और माकपा माले मिलकर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही हैं। इन दलों के बीच अगले सप्ताह सीटों का तालमेल होने की उम्मीद है। नीतीश कुमार ने मांग की है कि लोग चुनाव की प्रक्रिया में भयमुक्त होकर भाग लें तथा स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव संपन्न हो सके इसके लिए शत-प्रतिशत मतदान केंद्रों पर केंद्रीय सशस्त्र बलों की तैनाती की जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:किसी भी समय हो सकती है विधानसभा चुनाव की घोषणा