DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्व, उत्तर-पूर्व और उत्तर दिशा में रख सकते हैं पौधे

घर में तुलसी का पौधा कहां पर लगाएं। इसके साथ क्या अन्य पौधों को भी रखा जा सकता है?
-रश्मि उप्पल, दिल्ली

घर में तुलसी का पौधा सही स्थान पर रखने से काफी सकारात्मक प्रभाव रहता है और कई बीमारियां घर में प्रवेश नहीं करतीं। पौधों को आप पूर्व में रखें व अन्य पौधों को भी इनके साथ रखा जा सकता है। उत्तर-पूर्व व उत्तर में भी रख सकते हैं।

मेरा अपना व्यवसाय है तथा मध्यमवर्गीय परिवार से हूं। घर में कोई न कोई सदस्य बीमार रहता है। कमाया हुआ धन बीमारियों पर खर्च होता जा रहा है। खर्चे लगातार बढ़ते जा रहे हैं। घर बेचने तक के आसार नजर आ रहे हैं। यदि वास्तुदोष संबंधित कोई दोष है तो कृपया निवारण बताएं।
-अशोक तिवारी, जमशेदपुर

आप परेशान न हों। आपके घर में वास्तुदोष है, परंतु उसे सुधारा जा सकता है। बढ़े हुए दक्षिण-पश्चिम भाग को कटवा दें, प्लॉट को वर्गाकार आकार में कटवा कर चारदीवारी बनवाएं। बढ़ा हुआ दक्षिण-पश्चिम भाग घर में धन हानि, बीमारियां, तनाव व मुखिया के लिए परेशानी की स्थिति लाता है। दक्षिण में कुआं है, इसे तुरंत बंद करवा दें व उत्तर-पूर्व या उत्तर, पूर्व में बोरिंग करवाएं। अपना घर मत बेचें। आपको कुछ समय पश्चात इस समस्या से निजात मिल जाएगी। बोरिंग करवाने में सक्षम न हों तो उसे कुछ समय पश्चात भी करवा सकते हैं।

ई-पेपर के जरिए आपके लेख पढ़ता हूं और उनके अनुसार मैंने अपने घर में काफी परिवर्तन भी किए हैं तथा मुझे इनका लाभ भी मिला है। आपके लेख में पढ़ा था कि नैऋत्य कोण (द.-प.) यदि ईषान कोण (उ.-पू.) से ऊंचा व भारी हो तो काफी लाभदायक होता है। मैं इसी कम खर्च में कैसे कर सकता हूं?
-अशोक बैनर्जी, कोलकाता

यदि आप निर्माण करवाने में सक्षम नहीं हैं तो घर की छत पर दक्षिण-पश्चिम में एक फुट लंबा, चौड़ा व ऊंचा चबूतरा बनवाएं और इसके बीच में लगभग 8-10 फुट लंबी रॉड लगा कर उस पर लाल रंग का झंडा लगाएं। यह केतू का झंडा होता है।

परेशानियों को दूर करने के लिए अगर आप भी वास्तु या फेंग्शुई से संबंधित कोई सुझाव लेना चाहते हैं तो हमें इस पते पर लिखें : ‘इंटीरियर-एक्सटीरियर’, रीमिक्स, हिन्दुस्तान, एचटी हाउस, 18-20, कस्तूरबा गांधी मार्ग, नई दिल्ली-110001

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पूर्व, उत्तर-पूर्व और उत्तर दिशा में रख सकते हैं पौधे