DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरियाणा और वेस्ट यूपी के शहरों के लिए बन रहे अच्छे रास्ते

ग्रेनो से दूसरे शहरों की दूरियां सिमटने लगी हैं। चंद किलोमीटर की दूरी जाने के लिए पहले घंटों लगते थे, अब यह सफर मिनटों में होगा। शीघ्र ही छह नए मार्ग अस्तित्व में आने वाले हैं। जिनका निर्माण एक साल में पूरा हो जाएगा। जिससे फरीदाबाद, पलवल, सोनीपत, बागपत, हापुड़, बुलंदशहर, खुर्जा, दादरी, सिकंदराबाद, मेरठ और गाजियाबाद शहरों से ग्रेनो सीधे जुड़ जाएगा। कम समय और अच्छे रास्तों की बदौलत लोग एनसीआर के किसी भी शहर में आसानी से पंहुच सकेंगे। अथॉरिटी ने कई संपर्क मार्गो व एक्सप्रेस-वे पर काम जोर-शोर से शुरू कर दिया है।


शहर के विकास के लिए सम्पर्क मार्ग और आवागमन के बेहतर संसाधन होना जरूरी है। ग्रेनो इस मामले में अभी तक पिछड़ रहा था। जैसे ही ग्रेनो को नोएडा से जोड़ने के लिए 23 किलोमीटर लंबा एक्सप्रेस-वे बना तो शहर सीधा दिल्ली से जुड़ गया। जबकि इससे पहले कुलेसरा, भंगेल होकर डीएससी रोड से जाना पड़ता था। गाजियाबाद और मेरठ जाने के लिए इटैडा, साबेरी गांवों से होकर गुजरने वाले कच्चे रास्ते थे। अलीगढ़ और बुलन्दशहर जाने के लिए बिलासपुर से होकर एक देहात की सड़क है। अब इन शहरों से ग्रेटर नोएडा को अथॉरिटी ने दूसरे शहरों से सीधे जोड़ने के लिए कई रास्तों पर काम शुरू कर दिया है।
---
ये होंगे नए मार्ग

1: 130 एक्सप्रेस-वे
25 किलोमीटर, आठ लेन
कासना औद्योगिक क्षेत्र साईट फाइव से शुरू होकर नोएडा सेक्टर 71 तक जाने वाले 130 मीटर चौड़े एक्सप्रेस-वे का निर्माण 90 फीसदी पूरा हो गया है।
इस मार्ग के बनने से नोएडा सेक्टर 60, 62 के अलावा गाजियाबाद के इंद्रापुरम, वसुंधरा और वैशाली से सीधा संपर्क हो जाएगा।

2: यमुना एक्सप्रेस-वे
160 किलोमीटर, छह लेन
दनकौर, जेवर, अलीगढ, मथुरा और आगरा पहुंचना आसान होगा। फिलहाल परीचौक से दनकौर पंहुचने में मात्र आठ मिनट का समय लगता है। जबकि पहले ग्रेनो से दनकौर पंहुचने में 50 मिनट लगते थे।

3: दादरी-डासना संपर्क मार्ग
20 किलोमीटर, चार लेन
दादरी रेलवे पर ओवर ब्रिज का निर्माण चल रहा है। एनटीपीसी ने एनएच 24 तक सीसी रोड़ तैयार की है। अब ग्रेनो सीधे गाजियाबाद, मेरठ, मुरादाबाद जीटी रोड़ से जुड जाएगा।

4: विजय नगर मार्ग
17 किलोमीटर, चार लेन
सूरजपुर डीएसी रोड से चार लेन का एक्सप्रेस-वे 80 फीसदी बन चुका है। विजयनगर क्षेत्र में करीब आधा किलोमीटर तक का रास्ता अतिक्रमण से बाधित था। समस्या का निदान हो गया है। गाजियाबाद, इन्द्रापुरम, वैशाली, मोहन नगर, सहिबाबाद जाना आसान होगा।

5: पलवल संपर्क मार्ग
135 किलोमीटर, छह लेन
पलवल से सोनीपत तक बनने वाले इस्टर्न पैरीफेरल एक्सप्रेस-वे ग्रेटर नोएडा से गुजर रहा है। जमीन अधिग्रहण शुरू हो गया है। हरियाणा के पलवल फरीदाबाद, सोनीपत और यूपी के गाजियाबाद, मेरठ और बागपत पहुंचना आसान होगा।

6: परीचौक-दादरी मार्ग
12 किलोमीटर, छह लेन
परीचौक से सीधे बोड़ाकी गांव होते हुए छह लेन एक्सप्रेस-वे जीटी रोड दादरी पर जाकर मिलेगा। दिल्ली, अलीगढ़, बुलंदशहर, सिकंद्राबाद पहुचना आसान होगा। शहर के लोग रेलवे का प्रयोग कर सकेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हरियाणा और वेस्ट यूपी के लिए बन रहे हैं रास्ते