DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेटी चाहिए तो नियमित करें सेक्स, छोड़ें केला खाना

बेटी चाहिए तो नियमित करें सेक्स, छोड़ें केला खाना

अगर आप संतान के रूप में बेटी चाहती हैं तो एक अध्ययन के मुताबिक केले खाना बंद करने के साथ-साथ नमक का सेवन भी कम करें और नियमित रूप से यौन सम्बन्ध बनाएं।

डेली मेल की खबर के मुताबिक हॉलैंड के मास्त्रिख विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने एक अध्ययन में पाया है कि सही खान-पान और यौन सम्बन्ध का समय बच्चों के लड़का या लड़की होने के निर्धारण के लिहाज से बहुत मायने रखता है।

बेटी की चाहत रखने वाली महिलाओं को जैतून, सुअर मांस, आग पर भूनी गई सल्मोन मछली, झींगा, खुशबूदार चावल, आलू, रोटी तथा पेस्ट्री जैसे सोडियम तथा पोटैशियम की अधिकता वाले खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए।

ऐसी महिलाओं को दही, सख्त पनीर, डिब्बाबंद सल्मोन, एबार्ब, पालक, टोफू, बादाम, दलिया, फूल गोभी, संतरे, काजू, गेहूं की बाली, अंजीर तथा सेम जैसी कैल्शियम तथा मैग्नीशियम युक्त चीजें खानी चाहिए।

बहरहाल, वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि पिता के खान-पान का बच्चों के लिंग निर्धारण पर कोई असर नहीं पड़ता। इसके अलावा वैज्ञानिकों ने सुझाव दिया है कि बेटी की ख्वाहिश रखने वाली औरतों को नियमित रूप से यौन सम्बन्ध बनाने चाहिए। हालांकि यह काम डिम्बोत्सर्ग से ठीक पहले या फौरन बाद नहीं करना चाहिए।

वैज्ञानिकों ने इस शोध के लिए 23 से 42 वर्ष आयु वर्ग की 172 पश्चिम यूरोपीय महिलाओं पर पांच साल तक अध्ययन किया। इन सभी महिलाओं ने पूर्व में बेटे को जन्म दिया था और वे अगली संतान के रूप में बेटी चाहती थीं।

इन महिलाओं से नमक के सेवन में कमी लाने और दिन में कम से कम एक पाउंड डेयरी उत्पाद खाने को कहा गया। उनकी खुराक में रोटी, सब्जी, फल, मांस, चावल और पास्ता भी शामिल किया गया। खान-पान और यौनाचार के सख्त नियमों के चलते सिर्फ 21 महिलाएं ही अंतिम चरण में पहुंच सकी जिनमें से 16 ने बेटी को जन्म दिया। इस तरह सफलता का प्रतिशत 80 रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बेटी चाहिए तो नियमित करें सेक्स, छोड़ें केला खाना