DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रमंडल खेलों पर विवादास्पद बयान देकर मुकरी साइना

राष्ट्रमंडल खेलों पर विवादास्पद बयान देकर मुकरी साइना

भारत की अनुभवी बैडमिंटन खिलाड़ी और राष्ट्रमंडल खेलों की ब्रांड दूत साइना नेहवाल ने शनिवार को बड़े खेल आयोजनों की मेजबानी की भारत की क्षमता पर उंगली उठाकर सनसनी फैला दी लेकिन कुछ देर बाद ही अपना विवादित बयान वापिस ले लिया।

साइना ने पहले कहा कि उसे शक है कि दिल्ली इन खेलों की मेजबानी कर सकेगा या नहीं और तैयारियां भी अपेक्षा के अनुरूप नहीं है, लेकिन बाद में वह इस बयान से मुकर गई। यहां पुलेला गोपीचंद बैडमिंटन अकादमी पर एक समारोह के दौरान साइना ने कहा कि स्टेडियमों और काम की प्रगति को देखकर मुझे नहीं लगता कि हम इस तरह के बड़े आयोजनों में सक्षम है। मैंने मेलबर्न राष्ट्रमंडल खेल और बीजिंग ओलंपिक देखे हैं। उनकी तुलना में तो हम कहीं नहीं ठहरते।

लेकिन बाद में उसने इस बयान के लिए माफी मांगते हुए उम्मीद जताई कि राष्ट्रमंडल खेल काफी सफल होंगे। उसने कहा कि मेरे कहने का यह मतलब नहीं था। मैं इस बयान के लिए शर्मिंदा हूं। मुझे लगता है कि इसे गलत तरीके से पेश किया गया। मुझे यकीन है कि मेरे वहां जाने पर सब ठीक होगा। खेल बेहद कामयाब होंगे।

साइना ने कहा कि मैं आज एक अच्छी खिलाड़ी हूं और अपने घरेलू दर्शकों के सामने अच्छा प्रदर्शन करना चाहती हूं। मुझे फख्र है कि ये खेल भारत में हो रहे हैं और मैं इनमें खेल रही हूं। हमें इसकी मेजबानी इसलिए मिली है क्योंकि हम इसमें सक्षम है।

इस बीच राष्ट्रीय कोच गोपीचंद ने भी कहा कि भारत के लिए खेलों की सफल मेजबानी कोई मुश्किल काम नहीं है। उन्होंने कहा कि भारत की क्षमता को देखते हुए मुझे नहीं लगता कि खेलों के आयोजन में कोई दिक्कत होगी। जहां तक बैडमिंटन खिलाड़ियों का सवाल है तो हम काफी मेहनत कर रहे हैं और विवादों पर ध्यान नहीं देना चाहते।

इससे पहले राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समिति के महासचिव ललित भनोट ने साइना के बयान पर टिप्पणी से इंकार करते हुए कहा कि मुझे कुछ नहीं कहना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राष्ट्रमंडल खेलों पर विवादास्पद बयान देकर मुकरी साइना