DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सार्वजनिक ऋण पहली तिमाही में 4.1 प्रतिशत बढा़

देश का कुल सार्वजनिक ऋण इस वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 4.1 प्रतिशत बढ़कर 26,97,940 करोड़ रुपये हो गया। देश का कुल सार्वजनिक ऋण 31 मार्च को 25,92,945 करोड़ रुपये रहा था।

अप्रैल जून तिमाही के कुल सार्वजनिक ऋण में आंतरिक ऋण का हिस्सा 89.75 प्रतिशत है, जबकि बाहरी ऋण का हिस्सा 10.25 प्रतिशत रहा है। आंतरिक ऋण 30 जून को 4.5 प्रतिशत बढ़कर 24,21,370 करोड़ रुपये हो गया।

आलोच्य तिमाही में देश के कुल सार्वजनिक ऋण में विपणन योग्य प्रतिभूतियों का हिस्सा 76.54 प्रतिशत रहा। इस तरह की प्रतिभूतियों में सरकारी हुंडियां तथा दिनांकित प्रतिभूतियां शामिल हैं। बाह्य संसाधनों से जुटाया गया कुल ऋण अप्रैल जून की तिमाही में 2,76,570 करोड़ रुपये रहा और यह पिछली तिमाही में भी इतना ही था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सार्वजनिक ऋण पहली तिमाही में 4.1 प्रतिशत बढा़