DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हॉकी विश्वकप में भारतीय महिला टीम लगातार तीसरा मैच हारी

हॉकी विश्वकप में भारतीय महिला टीम लगातार तीसरा मैच हारी

भारतीय महिला हॉकी टीम का विश्वकप में निराशाजनक प्रदर्शन जारी है और उसे यहां जर्मनी के हाथों 1-4 की शिकस्त के साथ लगातार तीसरी हार झेलनी पड़ी।
    
पूल ए में भारत की लगातार तीसरी शिकस्त का मतलब है कि सुरिंदर कौर की टीम अब भी खाता नहीं खोल पाई है और पदक की दौड़ से लगभग बाहर हो गई है।
    
जर्मनी हालांकि इस जीत के साथ सेमीफाइनल के और करीब पहुंचा गया है जिसने अब तक अपने तीनों पूल मैचों में जीत दर्ज की है।
    
जर्मनी के लिए मैच में एलीन होफमैन (22वें मिनट), माइके स्टोकेल (32), नताशा केलेर (37) और लीडिया हास (49वें मिनट) ने गोल दागे।
    
भारत की ओर से मैच का एकमात्र गोल बेहतरीन फॉर्म में चल रही रानी रामपाल ने किया। अब वह हॉलैंड ही मार्तजी पोमैन के साथ चार गोल दागकर टूर्नामेंट में संयुक्त रूप से सर्वाधिक गोल दागने वाली खिलाड़ी बन गई हैं।
    
भारत अब अपने अगले पूल मैच में रविवार को जापान का सामना करेगा जबकि जर्मनी को गत चैम्पियन हॉलैंड से भिड़ना है।
    
पिछले दो मैचों की तरह इस बार भी भारतीय टीम ने धीमी शुरूआत की जिसका खामियाज़ा उसे भुगताना पड़ा। जर्मनी को हालांकि पहला गोल दागने में 22 मिनट लगे जब होफमैन ने पेनल्टी कार्नर पर गोल किया।

जर्मनी को हालांकि जश्न मनाने का अधिक मौका नहीं मिला और रानी ने भारत को बराबरी दिला दी। विरोधी टीम ने हालांकि मध्यांतर से पहले एक बार फिर बढ़त बनाई जब स्टोकेल ने भारतीय गोलकीपर दीपिका मूर्ति को छकाते हुए गेंद को गोल में पहुंचाया।
    
मध्यांतर तक जर्मनी की टीम 2-1 से आगे रही। दूसरे हाफ में भी जर्मनी का ही पलड़ा भारी रहा। केलेर ने दूसरे हाफ में पेनल्टी स्ट्रोक पर गोल दागकर जर्मनी को 3-1 से आगे किया जबकि हास ने 49वें मिनट में टीम का चौथा गोल करते हुए भारत की हार सुनिश्चित की।
    
पूल ए के अन्य मैचों में हॉलैंड ने ऑस्ट्रेलिया को 4-1 से हराया जबकि जापान और न्यूजीलैंड ने 2-2 से ड्रा खेला।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हॉकी विश्वकप में भारतीय महिला टीम लगातार तीसरा मैच हारी