DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माउस,की-बोर्ड चलाना सीख रहे सरकारी स्कूलों के बच्चे

जिले के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को निशुल्क कम्प्यूटर शिक्षा मिलनी शुरू हो गई है। बच्चों को कम्प्यूटर शिक्षा मुहैया कराने के लिए शासन की ओर से 25 नए कम्प्यूटर भेजे गए थे। बेसिक स्कूलों के बच्चाे लगन के साथ माउस व की-बोर्ड पर हाथ आजमा रहे हैं।

बच्चों को कम्प्यूटर शिक्षा देने के लिए हर ब्लाक को तीन-तीन कम्प्यूटर भेजे गए हैं। कम्प्यूटर का उपयोग अधिक से अधिक बच्चे कर सकें इसके लिए एक कम्प्यूटर में सीपीयू से तीन मोनिटर स्कूलों को दिए गए हैं। एक कम्प्यूटर पर 85 हजार रुपए खर्च किए गए हैं। उल्लेखनीय है कि अब तक कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय और एनपीईजीएल ब्लाक को छोड़कर किसी भी परिषदीय स्कूल में बच्चों को कम्प्यूटर की शिक्षा नहीं दी जाती थी। लेकिन शिक्षा का अधिकार कानून लागू होते ही सुधार की मुहित तेज होने लगी हैं।

जिला समन्वयक प्रशिक्षण बीबी पंत ने बताया कि हर ब्लाक को तीन-तीन कम्प्यूटर दिए जाने के बाद अब स्कूलों में पढ़ाई शुरू हो गई है। बच्चे काफी दिलचस्पी के साथ कम्प्यूटर शिक्षा ले रहे हैं। कम्प्यूटर शिक्षा का लाभ ज्यादा से ज्यादा बच्चों को मिल सके इसके लिए एक कम्प्यूटर के साथ एक सीपीयू, तीन मॉनिटर, की बोर्ड व माउस स्कूलों को उपलब्ध कराए गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:माउस,की-बोर्ड चलाना सीख रहे सरकारी स्कूलों के बच्चे