DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘कोच फैक्ट्री का दोबारा शिलान्यास धोखा’

बहुान समाज पार्टी की अध्यक्ष व प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने मंगलवार को यहाँ कहा कि कांग्रेस द्वारा विकास के नाम पर की जा रही राजनीति दुर्भाग्यपूर्ण है। सोनिया गांधी द्वारा रायबरली में फैक्ट्री का दोबारा शिलान्यास किया जाना विकास के नाम पर जनता से भद्दा मजाक करने जसा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार को रेल कोच फैक्ट्री के शिलान्यास की याद आखिर पिछले पाँच साल में अब तक क्यों नहीं आई? उन्होंने सवाल किया कि रायबरली में स्थापित 20 में से 11 फैक्िट्रयाँ क्यों बंद पड़ी हैं?ड्ढr सुश्री मायावती की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि जिस फैक्ट्री का शिलान्यास13 फरवरी 2007 को बैसवारा के पास हो चुका था, उसी फैक्ट्री का शिलान्यास लोकसभा चुनाव के पूर्व दोबारा कराने का मकसद क्या है? चुनाव के मौके पर ही कांग्रेस को विकास की याद क्यों आती है। उन्होंने कहा कि कोच फैक्ट्री के शिलान्यास के नाम पर मजाक की हद तब हो गई जब जमीन अधिग्रहण की बिनी किसी कार्यवाही के ही सरकारी जमीन पर कोच फैक्ट्री के शिलान्यास का ड्रामा 13 अक्तूबर 2008 को रचा गया।ड्ढr मुख्यमंत्री ने कहा कि जब उनकी जानकारी में यह बात आई कि जरूरी औपचारिकताएँ पूरी किए बगैर ही जमीन अधिग्रहण की कोशिशें जारी हैं, तो उन्होंने रल कोच फैक्ट्री के लिए पूरा सहयोग देने का वादा भी किया था। उन्होंने कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार पर बसपा सरकार के साथ सौतेला व्यवहार किए जाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने केन्द्र से सूबे के विकास के लिए 80 हाार करोड़ रुपए का एक विकास का पैकेा माँगा था, लेकिन केन्द्र नहीं दिया। बुंदेलखंड में सूखा राहत और अन्य सरकारी योजनाओं में केन्द्र सरकार का असहयोग जारी है। सुश्री मायावती ने कहा कि कांग्रेस व उसकी सहयोगी पार्टियों का चेहरा अब लोगों के सामने बेनकाब हो गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘कोच फैक्ट्री का दोबारा शिलान्यास धोखा’