DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव में मतदान शुरू

दिल्ली विश्वविद्यालय में छात्र संघ चुनाव के लिए छात्र आज अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे हैं। इस चुनाव में 41 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला होना है। चुनाव के लिए इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) का प्रयोग किया जा रहा है। चुनाव के लिए सुरक्षा के कडे इंतजाम किये गए हैं।

मुख्य चुनाव अधिकारी गुरमीत सिंह ने कहा कि मतदान के लिए 943 ईवीएम उपयोग में लायी जा रही है। कालेज चुनाव के लिए 111 तथा दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (डूसू) के लिए 130 केंद्र स्थापित किये गए हैं।

उन्होंने बताया कि डूसू अध्यक्ष पद के लिए कुल 11 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं जबकि उपाध्यक्ष, सचिव और संयुक्त सचिव पद के लिए कुल 30 उम्मीदवार अपने भाग्य आजमा रहे हैं। छात्र संघ चुनाव के लिए दिल्ली पुलिस के सहयोग से सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किये गए हैं। चुनाव केन्द्रों वाले प्रत्येक कालेज के बाहर पुलिस पिकेट स्थापित किये गए हैं।

छात्र संघ चुनावों के लिए लिंगदोह कमेटी की कड़ी शिफारिशें लागू होने के कारण इस बार चुनाव प्रचार में उतनी सरगर्मी देखने को नहीं मिली। पिछले वर्ष चुनाव नियमों का पालन नहीं करने के कारण सात प्रत्याशियों को अयोग्य करार दिया गया था। इसे ध्यान में रखते हुए इस बार के चुनाव में खड़े प्रत्याशियों ने अधिक सतर्कता बरती।

इस बार चुनाव में मुद्रित सामग्री और स्टिकरों के प्रयोग पर प्रतिबंध था। इसके साथ ही चुनाव प्रचार में वाहनों, जानवरों और लाउडस्पीकरों का प्रयोग भी प्रतिबंधित था। चुनाव में अपना भाग्य आजमा रहे मुख्य प्रत्याशियों में एसजीबीटी खालसा कालेज के अध्यक्ष पद के लिए एनएसयूआई के प्रत्याशी हरीश चौधरी तथा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के जितेंद्र चौधरी शामिल हैं।

इसके अलावा अन्य प्रत्याशियों में हिंदू कालेज की दूसरी वर्ष की छात्रा अपराजिता राजा शामिल हैं। अपराजिता भाकपा नेता डी राजा की पुत्री हैं तथा भाकपा समर्थित छात्र संगठन आल इंडिया स्टूडेन्टस फेडरेशन (एआईएसएफ) के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव में मतदान शुरू