DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सफल होंगे दिल्ली राष्ट्रमंडल खेलः सुरंजय

सफल होंगे दिल्ली राष्ट्रमंडल खेलः सुरंजय

स्टार मुक्केबाज सुरंजय सिंह ने देशवासियों और एथलीटों से राष्ट्रमंडल खेलों को सफल बनाने की अपील की। उन्होंने कहा कि आयोजन समिति पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप और दिग्गज एथलीटों के इसमें शिरकत नहीं करने के बावजूद इन खेलों की सफलता पर कोई असर नहीं पड़ेगा क्योंकि सभी एथलीट सरजमीं पर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को तैयार हैं।

पिछले 15 साल के बाद देश को पहला एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप का स्वर्ण पदक दिलाने वाले सुरंजय (52 किग्रा) पटियाला में चल रहे ट्रेनिंग शिविर में अपने साथियों के साथ अभ्यास में जुटे हैं। उन्हें पूरा भरोसा है कि दिल्ली राष्ट्रमंडल में मुक्केबाज 2006 मेलबर्न खेलों से बेहतर प्रदर्शन करेंगे।

स्वर्ण पदक के प्रबल दावेदारों में से एक सुरंजय ने कहा कि हम अपनी तैयारियों में लगे हैं, हमसे ज्यादा चर्चा इन विवादों और इनमें नहीं खेलने वाले खिलाड़ियों की हो रही है, लेकिन इससे हमारा मनोबल प्रभावित नहीं होगा। उन्होंने कहा कि हम सभी भारतीय एथलीट अपनी सरजमीं पर पहली बार हो रहे राष्ट्रमंडल खेलों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए काफी मेहनत कर रहे हैं और मुङो पूरा भरोसा है कि दिल्ली राष्ट्रमंडल खेल सफल होंगे।

सुरंजय पहली बार इन खेलों में शिरकत करेंगे और उनकी निगाहें सोने के तमगे पर ही लगी हुई हैं। हालांकि वह अन्य देशों के मजबूत प्रतिद्वंद्वियों को कमजोर आंकने की गलती नहीं करना चाहते इसलिए अपनी रणनीति और अभ्यास में कोई कमी नहीं छोड़ रहे। भारतीय नौसेना के नाटे कद के मणिपुरी मुक्केबाज का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सफर अभी तक काफी बढ़िया रहा है।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रमंडल खेलों के बाद ग्वांग्झू में होने वाले एशियाई खेल काफी महत्वपूर्ण हैं, इसलिए हम सभी दोनों प्रतियोगिताओं के लिए कड़ा अभ्यास कर रहे हैं। एशियाई खेल 2012 लंदन ओलंपिक के लिए क्वालीफाइंग टूर्नामेंट भी हैं इसलिए ये काफी अहम हैं।

फ्लाईवेट मुक्केबाज सुरंजय ने कहा कि मैं स्वर्ण के अलावा किसी और पदक के बारे में नहीं सोचता। हालांकि अन्य देशों के मुक्केबाजों से कड़ी चुनौती मिलेगी, वे भी पूरी तैयारी के साथ यहां आएंगे। कुछ स्टार एथलीट खेलों से हटने की योजना बना रहे हैं, इससे राष्ट्रमंडल खेलों का महत्व बिल्कुल कम नहीं होगा बल्कि अन्य खिलाड़ियों को भी मौका मिलेगा। वे इसका पूरा फायदा उठाने की कोशिश करेंगे।

वह भारत में हुई राष्ट्रमंडल मुक्केबाजी चैम्पियनशिप, प्रेसिडेंट कप, एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप और दक्षिण एशियाई खेलों में देश को स्वर्ण पदक दिला चुके हैं और राष्ट्रमंडल खेलों में सभी उनसे सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की उम्मीद लगाए हैं। हालांकि राष्ट्रीय प्रतियोगिता में वह क्वार्टरफाइनल में ही बाहर हो गये थे। उन्होंने कहा कि उम्मीदों का कोई दबाव नहीं होगा, मैं अपने देश में अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने को तैयार हूं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सफल होंगे दिल्ली राष्ट्रमंडल खेलः सुरंजय