अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पतंगबाजी से शुरू हुआ ‘दस्तकार बाजार’

सनतकदा की तीसरी हस्त-शिल्प प्रदर्शनी ‘बुनकर एवं दस्तकार बाजार-200’ में रामपुर के पतंग डिाायनर आसिफ मियाँ से 5000 डिााइनों में उपलब्ध पतंगे खरीदी जा सकती हैं। इस बार की प्रदर्शनी का यह खास आकर्षण है। जयपुर, बनारस, गुजरात, उत्तराखण्ड, आन्ध्र प्रदेश, असोम, उड़ीसा, बिहार सहित कई दूसर प्रदेशों से 40 बुनकर एवं हस्तशिल्पियों की कारीगरी प्रदर्शनी को आकर्षक बना रही है।ड्ढr सोमवार को प्रदर्शनी का शुभारम्भ मांगनियार एवं सूफी संगीत की लय पर लखनऊ की महिलाओं ने पतंगबाजी से किया तो कैसरबाग बारादरी का समां देखने लायक था। उद्घाटन के बहाने ही सही उन्होंने आसिफ मियाँ से पतंगबाजी के कई दाँव-पेंच सीख लिए। प्रदर्शनी में टसर-कोटा, सिल्क, कॉटन, एवं बनारसी सूट और नए अन्दाज की डिााइनर कढ़ाई वाली साड़ियाँ उपलब्ध हैं। कपड़ों की खरीदारी 500 रुपए से 5000 रुपए तक में की जा सकती है। दिल्ली की 22 कैरट गोल्ड पतरी ज्वलरी महिलाओं का ध्यान अपनी ओर खींच रही है। सनतकदा की संस्थापक माधवी कुकराा ने बताया कि प्रदर्शनी में नृत्य एवं गीत-संगीत कार्यक्रम भी होंगे। प्रदर्शनी एक फरवरी तक चलेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पतंगबाजी से शुरू हुआ ‘दस्तकार बाजार’