DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेरिकी कंपनी लगाएगी बिहार में बिजलीघर

अमेरिका की अग्रणी बिजली कंपनी एईएस कारपोरेशन ने बिहार में तापीय बिजलीघर लगाने की इच्छा व्यक्त की है। राज्य के लिये यह अच्छी खबर है क्योंकि नवंबर 2000 में राज्य के विभाजन के बाद अधिकतर बिजलीघर झारखंड में चले गये हैं।

  
राज्य के प्रधान उर्जा सचिव रविकांत ने प्रेट्र से कहा एईएस कारपोरेशन ने भागलपुर जिले के जगदीशपुर में तापीय बिजलीघर लगाने के लिये राज्य औद्योगिक संवर्धन बोर्ड (एसआईपीबी) को प्रस्ताव दिया है।
   
उन्होंने कहा कि एईएस (इंडिया) प्राइवेट लि़ ने लगभग 8,000 करोड़ रुपए के निवेश से बिजलीघर लगाने के लिये एसआईपीबी को रूचि पत्र सौंपा है।

एसआईपीबी को दी गयी अपनी पेशकश में एईएएस ने कहा है कि अगर कंपनी को बिजली उत्पादन इकाई लगाने की अनुमति दी जाती है, राज्य सरकार 50 करोड़ डालर (2,300 करोड़ रुपए) के प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई)  की उम्मीद कर सकती है।
  
न्यूयार्क स्टाक एक्सचेंज में सूचीबद्ध एईएस कारपोरेशन दुनिया भर में बिजली उत्पादन और वितरण से जुड़ी है। एईएस फिलहाल उड़ीसा सरकार के साथ संयुक्त उद्यम के तहत 210 मेगावाट क्षमता की दो कोयला आधारित परियोजनाओं का परिचालन कर रही है। इसके अलावा कंपनी छत्तीसगढ़ में भी कोयला परियोजनाओं पर काम कर रही है।

उर्जा सचिव ने कहा कि एसआईपीबी को दिये प्रस्ताव पर विचार किया जा रहा है। एसआईपीबी को दिये प्रस्ताव में एईएस ने कहा है कि राज्य को परियोजना से विनियमित मूल्य पर 25 फीसद बिजली खरीदने का अधिकार होगा।
  
उर्जा सचिव ने यह स्पष्ट कर दिया है कि एईएस कारपोरेशन को राज्य में बिजलीघर लगाने के लिये जमीन और कोयले की व्यवस्था करनी होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अमेरिकी कंपनी लगाएगी बिहार में बिजलीघर