DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ममता की लालगढ़ रैली तुच्छ फायदे के लिए थी: किशनजी

ममता की लालगढ़ रैली तुच्छ फायदे के लिए थी: किशनजी

शीर्ष माओवादी नेता किशनजी ने तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी द्वारा नौ अगस्त को आयोजित लालगढ़ रैली से मोहभंग जताते हुए कहा कि यह तुच्छ राजनीतिक फायदे के लिए आयोजित की गई। इससे पहले उन्होंने और पीसीपीए ने रैली का समर्थन जताया था।

किशनजी ने एक खुले पत्र में कहा है कि रैली में माकपा के आतंक के खिलाफ नेताओं के बयानों के बावजूद ममता और उनकी पार्टी ने इसे तुच्छ राजनीतिक फायदे के लिए भुनाया ताकि उन्हें और उनकी पार्टी को जनता को माओवादियों तथा पीसीपीए से अलग करने का रास्ता साफ हो सके।

माओवादी नेता ने कहा कि रैली में शांति के लिए बोल रहे किसी भी वक्ता ने पश्चिम मिदनापुर जिले में कांटापहाड़ी पर 22 फरवरी को संयुक्त बलों द्वारा मारे गए पीसीपीए अध्यक्ष लालमोहन तूडू की क्रूर हत्या का मुद्दा नहीं उठाया। किशनजी के 28 अगस्त के लिखे पत्र में सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश पर भी आरोप लगाया गया है।

इस पत्र की एक प्रति पीटीआई के पास है, जिसके मुताबिक किशनजी ने लालगढ़ रैली में मौजूद रहे स्वामी अग्निवेश से कहा है कि आजाद के अलावा अन्य माओवादी नेताओं की भी मुठभेड़ के नाम पर हुई हत्याओं में पड़ताल करें। उन्होंने कहा कि जांच के लिए एक स्वतंत्र समिति का गठन होना चाहिए और इस समिति को माकपा के गुंडों तथा संयुक्त बलों द्वारा किए जा रहे अत्याचार की जांच करनी चाहिए।

किशनजी का यह पत्र स्वामी अग्निवेश के नाम लिखा गया है। माओवादी नेता ने अग्निवेश पर माकपा और संयुक्त बलों के अत्याचारों के खिलाफ नहीं बोलने का आरोप लगाया है। उन्होंने आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल सरकार से माकपा के दो हजार काडर को हथियार दिए हैं और वे संयुक्त बलों के साथ पश्चिम मिदनापुर, बांकुरा एवं पुएलिया जिलों में बनाए गए 86 शिविरों में काम कर रहे हैं।

किशनजी ने कहा कि इन तीन जिलों में कम से कम 24 प्रारंभिक और जूनियर स्कूल, आठ पंचायतें और पार्टी दफ्तर हैं जिन पर माकपा के लोगों का कब्जा है। माओवादियों द्वारा लोगो को मारे जाने की घटनाओं का बचाव करते हुए किशनजी ने कहा कि हम रक्षात्मक लड़ाई लड़ रहे हैं जबकि सरकार द्वारा हमारे खिलाफ जंग आक्रामक है। हमारे पास खुद को बचाने के लिए सरकार तथा बलों की हथियारों की ताकत का प्रतिरोध करने के अलावा कोई रास्ता नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ममता की लालगढ़ रैली तुच्छ फायदे के लिए थी: किशनजी