DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खेल सिर पर,ग्राउंड तैयार नहीं

राज्यस्तरीय बॉस्केटबाल व हैंडबॉल प्रतियोगिता सिर है,मात्र 10 दिन बाद ही तीन दिवसीय प्रतियोगिता शुरू होनी है,सूबे के विभिन्न मंडलों से दोनों खेल में 18-18 टीमों की लगभग 400 से 450 लड़कियों के भाग लेने की संभावना है,लेकिन अब तक ये मैच कहां होंगे,आयोजक क्रीड़ा विभाग अब तक असमंजस में है? खेल निदेशालय ने लड़कियों के ये दोनों प्रतियोगिता गाजियाबाद को आवंटित कर दिए लेकिन महामाया स्टेडियम में टूटे खस्ताहाल बॉस्केट बाल कोर्ट को लेकर विभाग आजतक भी टेंशन में हैं।


दरअसल,महामाया स्टेडियम में निर्माणाधीन स्वीमिंग पुल के चक्कर में बॉस्केट बाल कोर्ट का जनाजा निकाल दिया गया। ट्रक व अन्य गाड़ियों के आने-जाने से जहां कोर्ट ग्राउंड को खलिहान बना दिया गया,वहीं कोर्ट के एक कोने में ईंट का कोठरा बना दिया गया। कोर्ट के जजर्र बनाने की शिकायत प्रदेश के खेल मंत्री तक भी पहुंची,जब वे कई माह पहले यहां स्वीमिंग पुल के निरीक्षण में आए थे,तब खेल मंत्री ने ठेकेदार कंपनी को कोर्ट को तत्काल ठीक कराने को कहा था। लेकिन बात आगे नहीं बढ़ पाई। क्रीड़ा अधिकारी द्वारा राज्यस्तरीय बॉस्केट बॉल के आवंटन होने बाद कोर्ट ठीक कराने को लेकर जिलाधिकारी दरबार में मामला पहुंचाया गया,डीएम के आदेश के बाद भी कुछ नहीं हुआ,इस बीच मीडिया में कई बार मामला उछला,लेकिन ठेकेदार कंपनी को सुध नहीं आई। अब चंद दिन रह गए तो महज खानापूत्तर्ि बतौर कोर्ट पर काम कराया जा रहा है। 


क्या है प्रतियोगिताएं: राज्यस्तरीय लड़कियों की दोनों प्रतियोगिताएं 12 से 14 अगस्त तक चलेंगी,11 अगस्त को प्रदेश भर की लड़कियों की टीम गाजियाबाद पहुंच जाएंगी,प्रतियोगिता में भाग लेने वाली खिलाड़ियोंे के ठहरने से लेकर खाने-पीने तक की सारी व्यवस्था विभाग को करनी है लेकिन आधे-अधूरे ग्राउंड को लेकर विभाग अब तक असमंजस में हैं।


क्या कहते हैं अधिकारी: क्र ीड़ा अधिकारी मुद्रिका तिवारी का कहना है कि कई बार की शिकायत के बाद ठेकेदार कंपनी द्वारा कोर्ट को ठीक कराने का काम शुरू किया गया है। उम्मीद है कि चार-पांच दिनों में ग्राउंड तैयार हो जाएगा। वैसे कोर्ट को ठीक करने के लिए कई माह से प्रयास चल रहे थे,लेकिन नहीं कराया गया। उन्होंेने माना कि अगर परिस्थितियां असामान्य रहीं तो वैकल्पिक कोर्ट की तलाश की जा रही है। लड़कियों के ठहराने के लिए कुछ निजी स्कूल को चुना गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खेल सिर पर,ग्राउंड तैयार नहीं