DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सजा को चुनौती देने संबंधी राठौड़ की अपील खारिज

सजा को चुनौती देने संबंधी राठौड़ की अपील खारिज

हरियाणा के पूर्व डीजीपी एसपीएस राठौड़ को अब 18 माह की सजा काटनी होगी। पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय ने उनकी वह अपील खारिज कर दी जिसमें उन्होंने रुचिका मामले में सुनाई गई सजा को चुनौती दी थी।

राठौड़ को 20 साल पुराने रुचिका गिरहोत्रा यौन उत्पीड़न मामले में सजा सुनाई गई जिसके बाद वह 25 मई से उच्च सुरक्षा वाली बुरैल जेल में बंद हैं। पूर्व डीजीपी द्वारा 12 अगस्त 1990 को यौन उत्पीड़न किये जाने के तीन साल बाद नवोदित टेनिस खिलाड़ी रुचिका ने आत्महत्या कर ली थी।

न्यायमूर्ति जतिन्दर चौहान ने 68 वर्षीय राठौड़ की वह याचिका भी खारिज कर दी जिसमें उन्होंने स्वयं को प्रोबेशन पर रिहा करने का अनुरोध किया था। राठौड़ की वकील, उनकी पत्नी आभा राठौड़ ने पति के जेल जाने के अगले दिन 26 मई को उनकी ओर से उच्च न्यायालय में पुनरीक्षण याचिका दाखिल की थी।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रुचिका मामले में राठौड़ को जोरदार झटका, अपील खारिज