DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उ.प्रःमेडिकल कॉलेजों को निजी हाथों में सौंपने की कवायद शुरू

उत्तर प्रदेश सरकार ने पांच मेडिकल कॉलेजों तथा दो पैरा मेडिकल संस्थानों को निजी क्षेत्र में सौंपने का निर्णय लिया है और इसके लिए निजी क्षेत्रों से निविदा आमंत्रित की गयी है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इनमें से तीन मेडिकल कॉलेजों और एक पैरा मेडिकल संस्थान के लिए नौ निजी कंपनियों ने मंगलवार को अपनी-अपनी निविदाएं दाखिल की हैं।

सूत्रों ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय कंसल्टेंसी कंपनी क्रिसल गुण दोष के आधार पर इन नौ कंपनियों में से चार कंपनियों का चयन करेगी। आशा जताई जा रही है कि अगले सत्र में सार्वजनिक-निजी भागीदारी (पीपीपी) के तहत इन मेडिकल कॉलेजों में पढ़ाई शुरू कर हो जाएगी।

सूत्रों के अनुसार, निजी क्षेत्र की जिन कंपनियों ने अपनी निविदाएं भरी हैं उनमें डीएस हेल्थ एंड एजुकेशन ट्रस्ट कोलकाता, पुष्पाजंलि एसोशिएशन आगरा, एरा एजुकेशनल ट्रस्ट लखनऊ, गोल्डरश लखनऊ, हिन्दू एजुकेशनल ट्रस्ट लखनऊ और ड़ॉ अतुल कृष्णा सुभारतीपुरम मेरठ शामिल है।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री मायावती मेडिकल कॉलेजों को निजी क्षेत्र में देने की बात कह चुकी हैं लेकिन काफी विरोध के बाद उन्होंने पीपीपी के तहत निजीकरण पर रोक लगा दी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उ.प्रःमेडिकल कॉलेजों को निजी हाथों में सौंपने की कवायद शुरू