DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

22 सौ साल पुराने भवन का अवशेष मिला

अनुमंडल मुख्यालय से छह किलोमीटर दूर डुम्हारपट्टी धर्मपुर गांव में स्थापित शिव मंदिर के जीर्णोद्धार के क्रम में लगभग 22 सौ साल पुराना ईंट निर्मित भवन का अवशेष मिला है, जो 14 फुट लंबा व 13 फुट चौड़ा है। इसकी दीवार चार फीट छह इंच चौड़ा चौकोर ईंट निर्मित है। इस दौरान तांबे का एक सिक्का, एक उाला सिक्का एवं एक गोल मोती जसा चमकीला पत्थर भी मिला है। तांबे के सिक्के की एक ओर राम दरबार का चिह्न् अंकित है, जबकि दूसरी ओर राजाराम शीतलवन विजय, सन् 1214 के साथ हनुमान जी की आकृति है।ड्ढr ड्ढr उाले सिक्के के एक भाग की तरफ एक सौ अंक अंकित है, वहीं दूसरी ओर तीन रंगों के फूलों का गुच्छा अंकित है। डीएम विजय कुमार ने बताया कि इस संबंध में उन्हें विस्तृत जानकारी नहीं मिल पायी है। जानकारी मिलने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। डॉ. प्रभातदास फाउंडेशन, दरभंगा के विशेषज्ञों के मुताबिक ईंट का निर्माण 22 सौ वर्ष पूर्व का है। ग्रामीणों ने बताया कि गत सप्ताह डॉ. प्रभात दास फाउंडेशन के विशेषज्ञों ने वहां स्थापित एक मंदिर में भूर रंग के शिवलिंग के अध्ययन के बाद खुदाई कराने का निर्देश दिया था। इसी क्रम में ग्रामीणों द्वारा खुदाई शुरू की गई थी। पुपरी के बीडीओने खुदाई से प्राप्त पुरातत्व अवशेषों का निरीक्षण किया। ड्ढr निगरानी ने सहायक निबंधक को दबोचाड्ढr बगहा (हि.प्र.)। बगहा में कोऑपरटिव के सहायक निबंधक रामाशंकर झा को निगरानी की टीम ने रंगेहाथ रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया। मंगलवार की सुबह निगरानी अन्वेषण ब्यूरो के डीएसपी महाराजा कनिष्क कुमार सिंह के नेतृत्व में पहुंची टीम ने 15 हाार रुपए रिश्वत लेते सहायक निबंधक को धर दबोचा। डीएसपी ने बताया कि वे मत्स्यजीवी सहयोग समिति के मंत्री जीतेन्द्र साह एवं शंभू चौधरी से रिश्वत की मांग करते थे तथा नहीं देने पर उनके निबंधन को रद्द कर देने की धमकी भी देते थे। इस सूचना पर निगरानी अन्वेषण ब्यूरो मामले की जांच करायी गयी तथा जांच में सही पाये जाने पर कार्रवाई का फैसला लिया गया। बगहा के किराये के मकान में रह रहे रामाशंकर झा के आवास पर उस समय छापेमारी की जब वे मत्सयजीवी के मंत्री जीतेन्द्र साह से पन्द्रह हाार रिश्वत ले रहे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 22 सौ साल पुराने भवन का अवशेष मिला