DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुबह का खोया चांद शाम को मिला

चांद मोहम्मद (हरियाणा के पूर्व उप मुख्यमंत्री चंद्रमोहन) का बुधवार को फिर ‘अपहरण’ हो गया। बात फैली और सात घंटे तक माहौल में सनसनी रही। फिाा ने देवर कुलदीप बिश्नोई पर पति को अगवा करवाने की तोहमत तक लगा दी। फिर दोपहर बाद करीब साढ़े चार बजे चांद का फोन आया और माहौल सामान्य सा हो गया। कहा, अपनी मर्जी से गए हैं, घर से। यह सुनने के बाद भी फिाा को यकीन नहीं। जार-ाार आंसू बहाते हुए बोलीं, ‘जब तक चांद से मिल नहीं लेती, यकीन नहीं होगा कि सही-सलामत हैं।’ प्रकरण की शुरुआत सुबह 00 बजे हुई। फिाा के अनुसार कुलदीप बिश्नोई के दो करीबी देवीलाल और राणा वित्तीय सहायता देने का झांसा देकर चांद को उनके 48सी स्थित निवास से गाड़ी में बैठाकर ले गए। वहीं, मीडिया से सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन कोई शिकायत न मिलने के कारण कार्रवाई नहीं की। बाद में एसएसपी की चांद मोहम्मद से फोन पर बात हो गई। इसी फोन पर फिाा से भी चांद की बात करवाई गई। चांद ने कहा वह सही सलामत हैं। उनका अपहरण नहीं हुआ है। हालांकि देर शाम तक यह साफ नहीं हो पाया कि चांद मोहम्मद आखिर हैं कहां। जब हमार दिल्ली के संवाददाता ने उन्हें फोन किया तो चांद का कहना था कि मैं जवाब देते-देते थक गया हूं। मैं अपनी मर्जी से कहीं भी जाऊं चाहे दिल्ली या पाकिस्तान। यह कहते हुए उन्होंने फोन काट दिया। बीच में उनके हरिद्वार में होने की सूचना पर वहां भी पुलिस सक्रिय हो गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सुबह का खोया चांद शाम को मिला