अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रीय शोक के बावजूद हुई संगीत प्रतियोगिता

पूर्व राष्ट्रपति आर.वेंकटरमन के निधन की वजह से घोषित राष्ट्रीय शोक के बावजूद उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी की ओर से बुधवार को वाल्मीकि प्रेक्षागृह में संभागीय शास्त्रीय संगीत प्रतियोगिता हुई। बाल वर्ग की प्रतियोगिता के बाद इसे अचानक रोक दिया गया।ड्ढr सांई बसंता कोम्बा जोस्युला ने राग बिहाग में छोटा खयाल ‘मेरो मन अटकयो’ और राग यमन में बड़ा खयाल ‘सदा शिव भज मन’ सुनाकर सबका दिल जीत लिया। कोम्बा को कड़ी चुनौती देते हुए नीलेश किसकू ने राग गौड़ सारंग में बड़ा खयाल ‘पाती झर’ और छोटा खयाल ‘पलन लागी’ गाया।ड्ढr अकादमी सचिव शरीफ अहमद खान ने कहा कि उन्हें जो शासनादेश प्राप्त हुआ उसमें स्पष्ट दिशा निर्देश नहीं थे इसलिए उहापोह की स्थिति हुई। अब स्पष्ट निर्देश दे दिए गए हैं कि राष्ट्रीय शोक के बाद इसे दोबारा शुरू किया जाएगा। उसमें बची हुई प्रतियोगिताएँ होंगी। दूसरी ओर पुलिस सप्ताह के तहत महानगर स्थित 35वीं वाहिनी पीएसी में आयोजित ऑन द स्पॉट पेन्टिंग प्रतियोगिता भी राष्ट्रीय शोक के कारण नहीं हुई।ड्ढr कई कार्यक्रम रदड्ढr राज्य ललित कला अकादमी की ओर से आयोजित 7वींअखिल भारतीय छायाचित्र कला प्रदर्शनी का उदघाटन अब 2ानवरी को नहीं होगा। सचिव वीना विद्यार्थी ने बताया कि प्रदर्शनी 2ानवरी से 12 फरवरी तक अवलोकनार्थ खुली रहेगी।ड्ढr उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान के निदेशक अमित कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि बसंत पंचमी के अवसर पर आयोजित होने वाला महाकवि प्रसाद एवं महाप्राण निराला स्मृति समारोह स्थगित कर दिया गया है। अब यह कार्यक्रम सात फरवरी को दोपहर साढ़े तीन बजे हिन्दी संस्थान स्थित यशपाल सभागार में होगा। आकाशवाणी की ओर से 31 को गन्ना संस्थान प्रेक्षागृह में आयोजित बसंत बहार कार्यक्रम भी रद कर दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राष्ट्रीय शोक के बावजूद हुई संगीत प्रतियोगिता