DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अस्पतालों में 'कैशलेस इलाज' की सुविधा शुक्रवार से होगी बहाल

अस्पतालों में 'कैशलेस इलाज' की सुविधा शुक्रवार से होगी बहाल

स्वास्थ्य बीमा के तहत निजी क्षेत्र के अस्पतालों और सार्वजनिक क्षेत्र की बीमा कंपनियों द्वारा देश के प्रमुख अस्पतालों में कैशलेस इलाज की सुविधा शुक्रवार से बहाल हो सकती है। दोनों पक्षों में अंतरिम व्यवस्था पर पहुंचने की संभावना है।

अपोलो हेल्थकेयर, मैक्स, मेडिसिटी और फोर्टिस ने मेडिक्लेम पॉलिसी के तहत इलाज के लिए अपने पैकेजों की दरें थर्ड पार्टी एड़मिनिस्ट्रेटर (टीपीए) को सौंप दी है। टीपीए ही बीमित व्यक्ति और बीमा कंपनी के बीच सुविधा प्रदाता के तौर पर काम करता है।

मैक्स हेल्थकेयर इंस्टीट्यूट के प्रबंध निदेशक परवेज अहमद ने बताया कि शुक्रवार तक टीपीए पैकेज दरों पर अस्पतालों को जवाब दिया जाएगा। उनके अनुसार इन अस्पतालों में कैशलेस इलाज की सुविधा शुक्रवार तक अंतरिम आधार पर बहाल हो जाएगी।

यद्यपि कैशलेस इलाज की सुविधा अंतरिम आधार पर कल से बहाल हो जाएगी लेकिन प्रमुख अस्पतालों एवं चार सरकारी बीमा कंपनियों के लिए अंतिम निपटान पर पहुंचने में कुछ और समय लगेगा।

उन्होंने कहा कि अंतरिम दर के ढांचे पर 30-40 दिनों में निर्णय हो सकेगा। मौजूदा ढांचे के तहत सुपर स्पेशियलिटी मेडिकल सेंटरों के आधार पर अस्पतालों का वर्गीकरण किया जाएगा जिसके मुताबिक प्रीमियम अलग़-अलग होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अस्पतालों में 'कैशलेस इलाज' की सुविधा शुक्रवार से होगी बहाल