अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मालेगांव में फंसेंगे मुतालिक!

मालेगांव धमाके मामले में अब श्रीराम सेना के प्रमुख प्रमोद मुतालिक पर शिकांा कस सकता है। महाराष्ट्र एटीएस ने मालेगांव धमाके के मुख्य आरोपी लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत पुरोहित व साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के साथ मुतालिक की सहभागिता की भी जांच शुरू कर दी है। अगर संबंधों के तार मिले हैं तो एटीएस उसे इस मामले में रिमांड में ले सकती है। फिलहाल मुतालिक कर्नाटक में पब की लड़कियों के साथ मारपीट के मामले में न्यायिक हिरासत में है और उसकी जमानत पर शुक्रवार को सुनवाई होनी है।ड्ढr ड्ढr एटीएस सूत्रों के मुताबिक मालेगांव धमाके मामले में मुतालिक की तलाश नहीं हो रही थी। लेकिन एक सभा में धमाके और साध्वी प्रज्ञा के बार में बोल कर मुतालिक खुद फंस गया है। एटीएस प्रभारी केपी रघुवंशी ने गुरुवार को कहा कि मुतालिक ने एक सभा में भाषण दिया है जिसमें उसने मालेगांव धमाके और साध्वी प्रज्ञा की गिरफ्तारी के बार में काफी कुछ कहा है। रघुवंशी ने कहा कि एक स्थानीय चैनल ने उसके भाषण को रिकार्ड किया है और एटीएस उससे टेप लेकर उसके अंशों की भी जांच करगी। सूत्रों का कहना है कि मई 2008 में हुबली के हुए बम धमाके में मुतालिक के हाथ होने पर भी संदेह जाहिर किया जा रहा है। हालांकि पुरोहित ने भोपाल में साध्वी प्रज्ञा से कहा था कि उसके लोगों ने उड़ीसा, कर्नाटक और मालेगांव में धमाके किए थे। इसका जिक्र मालेगांव धमाके की चार्जशीट में है। इसलिए अब एटीएस हुबली धमाके के बार में भी मुतालिक से पूछताछ कर सकती है।ड्ढr ड्ढr इसका संकेत रघुवंशी ने भी दिया है। उनका कहना है कि एटीएस कर्नाटक के प्रवीण मुतालिक की भी तलाश कर रही है जो पुरोहित का निजी सहायक था। उसने मालेगांव धमाके में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। प्रवीण ने धमाके लिए बम बनाने के साथ बम रखने का भी काम किया था। रघुवंशी ने कहा कि प्रवीण का नाम चार्जशीट में एक वांटेड आरोपी के रूप में दर्ज है। लेकिन श्रीराम सेना के प्रमोद मुतालिक से प्रवीण के रिश्तों की भी जांच करनी है। सूत्रों के मुताबिक प्रमोद मुतालिक भी कई बार पुणे आ चुका है और एसा समझा जाता है कि वह पुरोहित से मिल चुका है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मालेगांव में फंसेंगे मुतालिक!