DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकारी स्कूलों में बनेंगे किचन गार्डन

सरकारी स्कूलों के बच्चे अब स्कूल के किचन गार्डन में उगाई गई सब्जियों से बना मिड-डे मील खाएंगे। बच्चों को पौष्टिक खाना देने के उद्देश्य से परिषदीय स्कूलों की चारदीवारी के अंदर किचन गार्डन विकसित किए जाएंगे। जिन स्कूलों में बाउंड्रीवॉल नहीं है, वहां पहले उनका निर्माण कर गार्डन बनाए जाएंगे। किचन गार्डन को लेकर मिड-डे मील प्राधिकरण के निदेशक के रवींद्र नायक ने शिक्षा विभाग को आदेश जारी किए हैं।


प्राधिकरण की योजना किचन गार्डन को बनाने का जल्द से जल्द शुरू करने की है। जिले के 1218 प्राइमरी व अपर प्राइमरी विद्यालयों में मिड-डे मील योजना के तहत बच्चों को भोजन दिया जा रहा है। इस योजना से बेसिक स्कूलों में पढ़ने वाले तकरीबन डेढ़ लाख बच्चे लाभान्वित हो रहे हैं। इसमें 226 स्कूलों में मील बांटने का जिम्मा ग्राम प्रधानों के पास है, और बाकी बचे विद्यालयों में मील देने का दायित्व स्वयंसेवी संस्थाओं के पास है। बच्चों को पौष्टिक खाना मिल सके इसके लिए प्राधिकरण की ओर से खाने का एक मेन्यू भी निर्धारित किया गया है।
लेकिन अधिकांश स्कूलों में एनजीओ तय मेन्यू का उल्लंघन करने में लगे हुए है। समय-समय पर होने वाले निरीक्षण में यह बात कई बार निकलकर आई है। बच्चों को स्वादिष्ट और पौष्टिक खाना मिल सके इसके लिए मिड-डे मील प्राधिकरण के स्कूलों में किचन गार्डन बनाने की योजना तैयार की है। इसके तहत स्कूलों की चारदीवारी में विकसित होने वाले किचन गार्डन में हरी सब्जियां उगाई जाएंगी। इन सब्जियों का इस्तेमाल मील बनाने में किया जाएगा। बीएसए राजेश कुमार श्रीवास ने बताया कि मिड-डे मील प्राधिकरण के निर्देश पर स्कूलों में किचन गार्डन विकसित किए जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकारी स्कूलों में बनेंगे किचन गार्डन