अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रणदीव को सहयोग मिलता तो रिजल्ट बदल जाता : संगकारा

रणदीव को सहयोग मिलता तो रिजल्ट बदल जाता : संगकारा

शनिवार को भारत से तीसरा और अंतिम क्रिकेट टेस्ट मैच पांच विकेट से हारने के बाद श्रीलंका के कप्तान कुमार संगकारा ने सीरीज के 1- 1 से ड्रा हो जाने पर निराशा व्यक्त करते हुए कहा कि सूरज रणदीव को दूसरे छोर से कोई सहयोग नहीं मिला। जिसके कारण भारतीय टीम दबाव में नहीं आ सकी।

संगकारा ने कहा कि ऑफ स्पिनर रणदीव ने काफी अच्छी गेंदबाजी की और भारत की दूसरी पारी में गिरे सभी पांचों विकेट लिए लेकिन यदि उन्हें दूसरे छोर से थोड़ा भी सहयोग मिला होता, तो मैच का परिणाम कुछ और हो सकता था। लेकिन इसके बावजूद मुझे अपने खिलाड़ियों पर गर्व है जिन्होंने इस सीरीज में शानदार प्रदर्शन किया।

उन्होंने भारत के मैच जीतने का श्रेय वीवीएस लक्ष्मण की शतकीय पारी को देते हुए कहा कि लक्ष्मण ने वाकई एक शानदार पारी खेली। सचिन तेंदुलकर ने भी एक अच्छी अर्धशतकीय पारी खेलकर अपनी टीम को जीत दिलाई। ये दोनों बेहद अनुभवी बल्लेबाज हैं जो जानते हैं कि दबाव की परिस्थितियों में कैसे खेला जाता है।

श्रीलंकाई कप्तान ने हालांकि साथ ही कहा कि इस मैच की दूसरी पारी में उनकी बल्लेबाजी कुछ खराब रही जिसकी वजह से उनके हाथ से सीरीज जीतने का मौका निकल गया। लेकिन उन्होंने साथ ही अजंता मेंडिस और तिलन समरवीरा की शानदार बल्लेबाजी की भी सराहना की। कप्तान ने कहा कि लसित मलिंगा और ऑफ स्पिनर सूरज रणदीव का प्रदर्शन भी बढि़या रहा। उन्होंने तीन मैचों की इस सीरीज में अपनी टीम के प्रदर्शन की सराहना करते हुए कहा कि हमने पूरी श्रृंखला में काफी अच्छा खेल दिखाया जिसके लिए मुझे अपने खिलाडि़यों पर गर्व है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रणदीव को सहयोग मिलता तो रिजल्ट बदल जाता : संगकारा