DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांवडियों से पटी तीर्थनगरी हरिद्वार

तीर्थ नगरी हरिद्वार इस वक्त भगवाधारी कांवड़ यात्रियों से पटी हुई है। सनातन धर्म की मान्यता के अनुसार श्रावण महीने में भगवान शंकर को प्रसन्न करने के लिए लाखों की संख्या में कांवडि़ये हरिद्वार से गंगा का जल लेकर विभिन्न स्थानों पर स्थित भगवान शंकर के मंदिरों में जलाभिषेक करते हैं।

श्रावण महीने की शुरूआत इस वर्ष 26 जुलाई से हुई है और तभी से इस नगरी में लाखों की संख्या में कांवड़ियों का तांता लगा हुआ है। कांवडि़यों के आने से पूरी तीर्थ नगरी में गहमा गहमी है। गंगा किनारे कांवडि़यों द्वारा की जाने वाली पूजा पाठ के लिए पुजारियों की गदि्दयां सजी हुई हैं।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार देश के विभिन्न इलाकों से आने वाले कांवड़िए पहले गंगा किनारे पूजा पाठ करते हैं और इसके बाद ही वे अपनी अपनी गगरी में गंगा जल लेकर अपने इष्ट भगवान शिव के मंदिर जाने के लिये पदयात्रा शुरू करते हैं। हरिद्वार में प्रशासनिक सूत्रों ने बताया कि कांवड़ यात्रा के लिए आने वाले धर्मावलम्बियों के लिए हरिद्वार में प्रशासन ने चाक चौबंध व्यवस्था की है। इस वर्ष एक आंकलन के अनुसार पूरे महीने में करीब 80 लाख कावंड़यों के आने की संभावना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कांवड़ियों से पटी तीर्थनगरी हरिद्वार