DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आभूषण क्षेत्र में रियायतों के बावजूद नहीं बढा़ निर्यात

आभूषण क्षेत्र में रियायतों के बावजूद नहीं बढा़ निर्यात

देश के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक [कैग] ने सरकार की खिंचाई करते हुए कहा है कि रत्न एवं आभूषण क्षेत्र को निर्यात बढ़ाने के लिये 2005-06 से अबतक शुल्क छूट के रूप में दिये गये 68,192 करोड़ रुपये की सहायता के बावजूद वह क्षेत्र का निर्यात बढा़ने में नाकाम रही है।

कैग की संसद में पेश रिपार्ट में कहा गया है कि आयात पर कई तरह की छूट और इस क्षेत्र को कई लाभ देने के बावजूद निर्यात में आयात के अनुरूप वृद्धि नहीं हो पायी। वर्ष 2005-06 से 2007-08 जहां आयात 16 फीसदी बढ़ा, वहीं निर्यात 13 फीसदी ही बढ़ा।

कैग ने कहा कि निर्यात को बढ़ावा देने के लिये रत्न एवं आभूषण क्षेत्र को सरकार ने जो पिछले तीन साल में रियायत दी वह 68,192 करोड़ रुपये के लगभग बराबर है। सरकार की विभिन्न नीतियों और नियंत्रण प्रणाली में विषमता की बात कहते हुए कैग ने कहा कि केंद्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क विभाग ने सेज इकाइयों द्वारा वस्तुओं के आयात और निर्यात के दौरान वस्तुओं की जांच के लिये रिजर्व बैंक के दिशानिर्देशों के तहत कोई नियम निर्धारित नहीं किये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आभूषण क्षेत्र में रियायतों के बावजूद नहीं बढा़ निर्यात