अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पांच सबसे आकर्षक मोबाइल भुगतान बाजारों में भारत

मोबाइल से बिलों के भुगतान के मामले में चीन के साथ भारत दुनिया के शीर्ष पांच आकर्षक देशों में शुमार हो गया है।

वैश्विक प्रबंधन परामर्श कंपनी आर्थर डी लिटल [एडीएल] की ओर से जारी रिपोर्ट में एम-ब्रिक देशों [मैक्सिको, ब्राजील, रूस, भारत और चीन] की मौजूदा परिस्थितियों आधार पर यह आकलन किया गया है। एडीएल ने क्षमतावान कंपनियों को इन बाजारों में तत्काल अपने पैर पसारने का सुणव दिया है।

हालांकि एम-ब्रिक देशों के मात्र 3.2 करोड़ लोग ही मोबाइल की वित्तीय सेवाएं लेते हैं। पर कंपनी का आकलन है कि वर्ष 2015 तक 29 करोड़ लोग ऐसी सेवाएं लेने लगेंगे, जो इनकी कुल आबादी का 10 प्रतिशत होगा।
 रिपोर्ट में कहा गया है कि कुल आबादी के 10 फीसदी लोगों द्वारा मोबाइल भुगतान का इस्तेमाल किए जाने से 2015 तक मोबाइल के जरिये लेनदेन का आंकड़ा बढ़कर 20 अरब हो जाएगा, जिसमें से चीन की भागीदारी 6. 9 अरब की होगी।

रिपोर्ट में कहा गया है कि मोबाइल भुगतान के प्रति लोगों का रुझान बढ़ने से 2015 तक वैश्विक स्तर पर इसके जरिये कारोबार का आकार बढ़कर 280 अरब डॉलर पर पहुंच जाएगा। भारत के संदर्भ में मोबाइल भुगतान सेवाएं बैंक आधारित होंगी। बैंक ऐसे क्षेत्रों में ये सेवाएं उपलब्ध कराएंगे जहां एटीएम और शाखाएं काफी दूरी पर हैं। चाइना डेली की रपट के मुताबिक वर्ष 2010 की पहली छमाही में चीन में मोबाइल धारकों की संख्या 80 करोड़ से ज्यादा हो गई है। चीन में मोबाइल भुगतान अभी शुरुआती चरण में ही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पांच सबसे आकर्षक मोबाइल भुगतान बाजारों में भारत