DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूएन-अमेरिका का हुजी व कश्मीरी पर प्रतिबंध

यूएन-अमेरिका का हुजी व कश्मीरी पर प्रतिबंध

संयुक्त राष्ट्र और अमेरिका ने हुजी को विदेशी आतंकवादी संगठन घोषित कर दिया है और इसके कमांडर मोहम्मद इलियास कश्मीरी पर प्रतिबंध लगा दिए हैं जो मुंबई हमलों के साजिशकर्ता डेविड कोलमैन हेडली का करीबी रहा।

हरकत उल जिहाद अल इस्लामी (हुजी) और कश्मीरी की भारत में सिलसिलेवार आतंकी गतिविधियों में संलिप्तता रही है। इस संगठन ने 2007 में हैदराबाद मस्जिद पर हमले को अंजाम दिया, जिसमें 16 लोग मारे गए थे और 2007 में ही वाराणसी हमले को भी अंजाम दिया, जिसमें 25 लोगों की मौत हुई और 100 अन्य घायल हुए थे।

कश्मीरी का नाम मुंबई हमलों से भी जुड़ा और वह हेडली के निकट संपर्क में था। हेडली मुंबई हमलों की साजिश में अपनी भूमिका स्वीकार कर चुका है जिनमें 166 लोग मारे गए थे। मरने वालों में छह अमेरिकी भी शामिल थे।

अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने हुजी को जहां विदेशी आतंकवादी संगठन घोषित किया, वहीं वित्त मंत्री टिमोथी गीथनर ने कश्मीरी पर प्रतिबंध लगाए। इसके साथ ही संयुक्त राष्ट्र ने भी अपने न्यूयॉर्क मुख्यालय में हुजी और कश्मीरी पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की।

अमेरिकी विदेश विभाग में आतंकवाद विरोधी मामलों के समन्वयक डैनियल बेंजामिन ने शुक्रवार शाम कहा कि संयुक्त रूप से विदेश और वित्त विभाग तथा संयुक्त राष्ट्र ने कार्रवाई की, जिससे हुजी और इसके नेता इलियास कश्मीरी द्वारा पैदा किए गए आतंकवाद के खतरे से लड़ने के अंतरराष्ट्रीय समुदाय के संकल्प का पता चलता है।

बेंजामिन ने कहा कि हुजी और अलकायदा के बीच संबंध स्पष्ट हैं और आज जो घोषणा की गई, उससे संगठनों के बीच ये संबंध और भी स्पष्ट हो गए हैं। यह कार्रवाई वित्त विभाग और न्याय विभाग के साथ सलाह मशविरे से की गई।

आतंकवाद और वित्तीय खुफिया मामलों के उप मंत्री स्टुअर्ट लेवी ने कहा कि मोहम्मद इलियास कश्मीरी अमेरिकी बलों और हमारे सहयोगियों के खिलाफ साजिश रचने और हमले करने की हुजी की कोशिशों में सबसे आगे है।

लेवी ने एक बयान में कहा कि एक साथ कार्रवाई करते हुए संयुक्त राष्ट्र और अमेरिका अलकायदा तथा इसके सहयोगी संगठनों से उत्पन्न खतरे के खिलाफ लड़ाई में एक और महत्वपूर्ण कदम उठा रहे हैं।

अमेरिकी वित्त विभाग ने बयान में कहा कि कश्मीरी के खिलाफ कार्रवाई एक्जीक्यूटिव ऑर्डर 13224 के तहत की गई जो अमेरिकी क्षेत्राधिकार में कश्मीरी से जुड़ी किसी भी संपत्ति को जब्त करने और किसी भी अमेरिकी नागरिक को उसके साथ कोई लेन देन करने से रोकता है। संयुक्त राष्ट्र ने भी हुजी और कश्मीरी के खिलाफ यही कार्रवाई की है।

हुजी कमांडर के रूप में कश्मीरी आतंकी हमलों के लिए साजो सामान उपलब्ध कराता है और अलकायदा के अभियानों में भी मदद करता है।

भारत ही नहीं, कश्मीरी ने पाकिस्तान सरकार के कर्मियों और प्रतिष्ठानों पर हमलों के लिए भी मदद मुहैया कराई। वह 2009 में लाहौर स्थित आईएसआई और पाकिस्तान पुलिस के कार्यालयों पर हुए हमले में भी वह शामिल था। इस हमले में 23 लोग मारे गए थे और सैकड़ों घायल हुए थे।

उसने अक्टूबर 2008 में पाकिस्तान की विशेष सेवा के पूर्व कमांडर जनरल आमिर फैजल अल्वी के कत्ल का भी निर्देश दिया था। इसके अतिरिक्त भी वह बहुत से हमलों और साजिशों में शामिल रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूएन-अमेरिका का हुजी व कश्मीरी पर प्रतिबंध