अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो टूक (शनिवार, 7 अगस्त 2010)

खेलों के लिए सरकारी कंपनियों ने पैसे देने का वादा किया था। लेकिन ऐसा खेल हो गया मानो कॉमनवेल्थ न होकर करप्शनवेल्थ हो। ऑस्ट्रेलियाई कंपनी से करार रद्द हो गया, कुछ लोगों को चलता कर दिया गया लेकिन प्रायोजकों के मन से आशंका हटी नहीं और वे वादे से हटने लगे हैं। बड़ा बुरा होता है भरोसे का टूट जाना। अब देखें बात बनती है या कि सरकार के बीच-बचाव की नौबत आती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो टूक (शनिवार, 7 अगस्त 2010)